गुड़िया मामला: कल सुनाई जाएगी नीलू को सजा, CBI ने मांगी है सजा-ए-मौत; पढ़ें रिपोर्ट

Ticker

6/recent/ticker-posts

गुड़िया मामला: कल सुनाई जाएगी नीलू को सजा, CBI ने मांगी है सजा-ए-मौत; पढ़ें रिपोर्ट


शिमला।
हिमाचल प्रदेश के बहुचर्चित कोटखाई दुष्कर्म एवं हत्या मामले के लिए कल का दिन काफी अहम् होने वाला है। दरअसल, कल मामले की फाइनल सुनवाई हो सकती है, जिसमें इस मामले के मुख्य आरोपी चरानी अनिल उर्फ नीलू को सजा सुनाई जाएगी। मंगलवार को हुई इस मामले की सुनवाई के दौरान विशेष न्यायाधीश राजीव भारद्वाज के समक्ष दोषी की सजा को लेकर अभियोजन व बचाव पक्ष के वकीलों के बीच बहस हुई थी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: 'नदीम' ने लूटी थी किशोरी की इज्जत, हुई 10 साल की जेल-जुर्माना भी ठोंका

इस बहस के दौरान सीबीआई ने छात्रा से दुष्कर्म एवं हत्या के दोषी चरानी अनिल उर्फ नीलू को मौत की सजा देने की मांग की थी। इसे लेकर सीबीआई ने तर्क दिया था कि मामला गंभीर है और यह अमानवीय कृत्य था। वहीं, सुनवाई में दोषी के वकील ने कोर्ट रूम में सजा को लेकर कुछ रियायत देने की बात रखी। कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में लाया गया नीलू बहस के दौरान बेचैन देखा गया था। 

यहां पढ़ें पूरे मामले का विस्तृत ब्यौरा 

शिमला जिला के कोटखाई में वर्ष 2017 में जुलाई माह के पहले सप्ताह में जघन्य वारदात हुई थी। 4 जुलाई, 2017 को एक छात्रा स्कूल से लौटते समय लापता हो गई थी। 6 जुलाई 2017 को कोटखाई के तांदी के जंगल में पीडि़ता का शव मिला। जांच में पाया गया कि छात्रा की दुष्कर्मके बाद हत्या कर दी गई थी। छात्रा को बड़ी बर्बरता से मौत के घाट उतारा गया था। किशोरी के साथ दरिंदगी की इस वारदात के खिलाफ जबरदस्त जनाक्रोश देखने को मिला था। 

यह भी पढ़ें: सरकारी कर्मियों के लिए बड़ी खुशखबरी, DA में इजाफे के बाद 32400 बढ़ जाएगी सैलरी, जानें

लोगों ने तब इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर सड़क पर उतरकर आंदोलन किया था। छानबीन के बाद पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इनमें एक आरोपी सूरज की लॉकअप में हत्या कर दी गई। आक्रोशित लोगों का पुलिस पर गुस्सा फूटा और भीड़ ने कोटखाई थाने को आग के हवाले कर दिया था। प्रदेश हाईकोर्ट ने मामले की जांच सीबीआई के सुपुर्द कर दी। सीबीआई ने गुडिय़ा रेप-मर्डर और सूरज हत्याकांड में दो अलग-अलग मामले दर्ज किए।

Post a Comment

0 Comments