'CBI से अच्छी तफ़तीश तो कोटखाई पुलिस कर लेती, चिरानी को फंसा गई'

Ticker

6/recent/ticker-posts

'CBI से अच्छी तफ़तीश तो कोटखाई पुलिस कर लेती, चिरानी को फंसा गई'

शिमला। हिमाचल प्रदेश में शिमला जिले के कोटखाई में बहुचर्चित गुड़िया रेप एंड मर्डर केस में आखिरकार फैसला हो गया है। चार साल के बाद अब जाकर न्याय का इंतजार खत्म हुआ है और आदालत ने ने दोषी नीलू चरानी को उम्र कैद की सजा सुनाई है। 

अब ताउम्र दोषी नीलू जेल में रहेगा और कोर्ट ने उस पर 10 हजार रूपए का जुर्माना भी लगाया है। वहीं, अब कोर्ट द्वारा सुनाए गए इस फैसले पर प्रदेश के लोगों की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी हैं। 

यह भी पढ़ें: जनता ने मांगा गुड़िया के लिए न्याय: उम्रभर खिलाने से अच्छा है कि इन्हें फांसी के तख्ते पर लटका दो

इसी कड़ी में अब शिमला ग्रामीण से कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य ने इस मामले के संबंध में फेसबुक पोस्ट कर बड़ी बात कह दी है। कांग्रेस नेता ने लिखा कि गरीब पर मार, असली गुनेहगार हैं फ़रार। कांग्रेस नेता ने आगे लिखा कि CBI से अच्छी तफ़तीश तों कोटखाई पुलिस कर लेती। बकौल विक्रमादित्य सिंह, वीरभद्र सिंह सरकार ने गुड़िया को न्याय दिलवाने के लिए  CBI को जाँच सौंपी , पर CBI ग़लत तफ़तीश करते हुए गरीब चिरानी को फँसा गयी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में एक और आरोपी को हुई उम्रकैद की सजा: चाक़ू मारकर ली थी महिला लैब अटेंडेट की जान

विक्रमादित्य सिंह ने लिखा नीलू चिरानी का आजीवन कारावास CBI की गलत तफ्तीश का नतीजा है, असली आरोपी बिना क़ानून के डर के आज भी घूम रहे हैं। बता दें कि विक्रमादित्य के इस पोस्ट के बाद लोगों के उस शक को और हवा मिल गई, जिसमें लोग लगातार सीबीआई जांच को लेकर सवाल उठा रहे हैं।


Post a Comment

0 Comments