जयराम सरकार ने खोले ताले, तो स्वास्थ्य विभाग ने किया अलर्ट: कहा- छूट से फिर बढ़ सकते है केस

Ticker

6/recent/ticker-posts

जयराम सरकार ने खोले ताले, तो स्वास्थ्य विभाग ने किया अलर्ट: कहा- छूट से फिर बढ़ सकते है केस


शिमला।
हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में बीते कल कैबिनेट की महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें प्रदेश सरकार ने सूबे के लोगों कोविड कर्फ्यू में ढील का तोहफा दिया। तो वहीं, बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के लिए कोरोना टेस्ट रिपोर्ट की अनिवार्यता को ख़त्म कने का फैसला लिया है। अब सूबे में बसें चलाने और पर्यटकों की बिना निगेटिव रिपोर्ट एंट्री के फैसले के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है।

विभाग मानता है कि छूट से बढ़ेंगे कोरोना केस 

विभाग का मानना है कि कोरोना बंदिशों में छूट देने के बाद प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर बढ़ सकते हैं। इसके चलते स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल कॉलेजों, सीएमओ और बीएमओ को अलर्ट किया है। बता दें कि हिमाचल में अभी कोरोना की दूसरी लहर सक्रिय है। वहीं, सूबे के अस्पतालों में भर्ती हुए कोरोना के 10 फ़ीसदी मरीज अभी भी गंभीर हालत में हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: वृद्ध दंपती द्वारा गोद ली गई किशोरी ने लगा लिया फंदा, छानबीन में जुटी पुलिस

वहीं, हिमाचल में मौजूद एक्टिव मामलों की संख्या भी 5 हजार से ज्यादा है। अब इन्हीं बातों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग चिंतित है। गौरतलब है कि सरकार ने बाहरी राज्यों से आने वाले सैलानियों के लिए आरटीपीसीआर रिपोर्ट की अनिवार्यता खत्म कर दी है। अब बिना कोविड जांच के सैलानी और अन्य लोग हिमाचल आ सकते हैं। इससे इन लोगों के साथ संक्रमण भी हिमाचल में प्रवेश कर सकता है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः बाथरूम में रखी वाशिंग मशीन से लिपटा पड़ा था अजगर, देखते ही मचा चीखो-पुकार

वहीं, बसों चलाने को लेकर अगर सख्ती नहीं की गई तो संक्रमण एक से दूसरी जगह पहुंच सकता है। ऐसे में किसी भी तरह की कोई चूक न हो, इसलिए सभी जिलों के सीएमओ, बीएमओ समेत मेडिकल कॉलेजों के प्रिंसिपलों को निर्देश दिए हैं कि जिन डॉक्टरों, फार्मासिस्टों और नर्सों को फील्ड में तैनात किया है। उनकी वहीं सेवाएं ली जाएं। स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने कहा कि सीएमओ, बीएमओ समेत मेडिकल कॉलेजों के प्रिंसिपलों से अलर्ट रहने के लिए कहा है। 

Post a Comment

0 Comments