हिमाचलः अगले महीने होनी थी बेटी की शादी; आवारा सांडों की लड़ाई में गई महिला की जान

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचलः अगले महीने होनी थी बेटी की शादी; आवारा सांडों की लड़ाई में गई महिला की जान

ऊनाः हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में एक बेहद दर्दनाक हादसा पेश आया है। जहां अपनी बेटी की शादी के लिए खरीददारी करने गई महिला सड़क पर लड़ रहे आवारा सांडों की भिडंत के चपेटे में आ गई। बताया गया कि हादसे के वक्त महिला स्कूटी पर सवार थी, इस दौरान स्कूटी का संतुलन बिगड़ गया और वह सड़क के साथ लगती नाली में जा गिरी। इस हादसे में महिला को अपनी जान से हाथ धोना पड़ गया। 

यह भी पढ़ें: हिमचालः तीन महिलाओं लेकर जा रही कार खंभे से टकराई; आगे थी गहरी खाई

बताया गया कि हादसे के बाद महिला की हालत गंभीर होने के कारण उसे उपचार के लिए क्षेत्रीय अस्पताल बड़सर पहुंचाया गया। जहां डॅाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं, घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस द्वारा इस घटना के संदर्भ में मामला दर्ज कर आगामी जांच अमल में लाई जा रही है।

यह भी पढ़ें: कांगड़ा में बीते कल हुई खूनी झड़प में घायल एक शख्स की गई जान: फि‍र सड़क पर उतरे ग्रामीण

मृतक महिला की पहचान उर्मिला देवी 45 वर्ष  पत्नी कश्मीर सिंह निवासी गांव सरोह के रूप में हुई है। मृतक महिला की बेटी की शादी अगले महीने में चार जुलाई को होने वाली थी, अब उससे पहले ही घर में मां की मौत हो जाने से परिवारजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। मिली जानकारी के अनुसार बेटी की शादी की खरीदारी करने के बाद महिला किसी स्कूटी से लिफ्ट लेकर वापिस घर आ रही थी। 

तीन लड़कियों, बेटे और पति को पीछे छोड़ गई महिला 

इस बीच रास्ते में अचानक से दो सांड लड़ते हुए आ गए जिस वजह से स्कूटी फिसल कर खड्डे में जा गिरी जिससे महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। उक्त महिला अपने पीछे तीन लड़कियां, एक लड़का व पति को छोड़ गई है। इस पूरे मामले पर पुलिस प्रभारी प्रेमपाल ने जानकारी देते हुए बताया कि महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस मृत्यु के कारणों की जांच करने में जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: खड़ी-खड़ी देखती रह गई मां और 6 साल की बेटी को रौंद गया ट्रक; चिथड़े बिखरे

बता दें कि लोक निर्माण विभाग ने सड़क के किनारे नालियों के निर्माण के लिए 2 से 3 फीट खुदाई की है लेकिन कई महीने बीत जाने के बाद भी किए गए इन खड्डों को ना तो भरा जा रहा है और ना ही इसका निर्माण कार्य जारी है। बताया जा रहा है कि उक्त स्थान पर इससे पहले भी कई दुर्घटनाएं घटित हो चुकी है जिसमें कई लोग घायल भी हुए हैं। लेकिन इसके बावजूद विभाग द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया जिस वजह से दुर्घटनाओं का दौर जारी है।

Post a Comment

0 Comments