हिमाचल: 'नदीम' ने लूटी थी किशोरी की इज्जत, हुई 10 साल की जेल-जुर्माना भी ठोंका

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: 'नदीम' ने लूटी थी किशोरी की इज्जत, हुई 10 साल की जेल-जुर्माना भी ठोंका



हमीरपुर। हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले स्थित विशेष न्यायाधीश राकेश कैंथला की अदालत ने नाबालिग से दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी देने के मामले में दोष सिद्ध होने पर 10 साल कठोर कारावास और 15000 रुपये जुर्माने की सजा सुनाई गई है। मामले की पैरवी जिला न्यायवादी कपिलदेव शर्मा ने की। मई 2020 को महिला पुलिस थाना हमीरपुर में एक नाबालिग की ओर से शिकायत दर्ज करवाई थी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल पुलिस ने नशे की बड़ी खेप पकड़ी: 8.4 किलो चरस, हजारों की नकदी, शराब-बियर और..

पीड़ित की माता ने पुलिस में दी शिकायत में कहा कि उत्तरप्रदेश के सहारनपुर निवासी नदीम पुत्र जाहिर ने उसकी बेटी के साथ जबरन दुष्कर्म किया है। विरोध करने पर उसे जान से मारने की धमकियां दी गईं। 

शिकायत पर पुलिस ने पोक्सो एक्ट और भारतीय दंड संहिता की धारा 506 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया। मामले की छानबीन करने के बाद पुलिस ने न्यायालय में चालान पेश किया। जिला न्यायवादी कपिल देव शर्मा ने बताया कि इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से 25 गवाह पेश हुए। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः जिस अस्पताल में दो साल पहले तक डॉक्टर था अब वहीं के नए डॉ पीटा, मामला दर्ज

अभियोजन और बचाव पक्ष की दलीलें सुनने के बाद न्यायालय ने आरोपी को दोषी करार दिया। बुधवार को इस मामले में सजा का ऐलान करते हुए अदालत ने पोक्सो एक्ट के तहत दोषी को दस साल के कठोर कारावास और दस हजार रुपये जुर्माना, जबकि भादसं की धारा 506 के तहत एक साल का कारावास और पांच हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। यह दोनों सजाएं एक साथ चलेंगी।

Post a Comment

0 Comments