हिमाचल: 10 महीने से हो रहा है शहादत का अपमान, आज टूटी प्रतिमा को दी गई श्रद्धांजलि

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: 10 महीने से हो रहा है शहादत का अपमान, आज टूटी प्रतिमा को दी गई श्रद्धांजलि

सिरमौर। हिमाचल प्रदेश को देवभूमि के साथ-साथ वीरभूमि के नाम से भी जाना जाता है। सूबे के हजारों जवानों ने देश की रक्षा और हित के लिए अपने प्राणों की बलि दी है और सर्वस्व का त्याग किया है। लेकिन हिमाचल में ही सूबे के एक वीर शहीद का पहले तो शरारती तत्वों ने अपमान कर उनकी प्रतिमा को खंडित कर दिया। वहीं, इस पूरे मामले को लेकर प्रशासन कुछ ऐसा सोया हुआ है कि 10 महीने बीत जाने के बावजूद भी इसकी मरम्मत नहीं हो सकी है। 

मूर्ती तोड़ने वालों को भी नहीं पकड़ सका है प्रशासन 

मामला सूबे के सिरमौर जिले स्थित राजगढ़ उपमंडल के हाब्बन सामने आया है। जहां शहीद हितेश शर्मा को शहीदी दिवस के मौके पर उनकी टूटी हुई प्रतिमा (Statue) पर पुष्पांजलि अर्पित कर दी गई। इस मामले में विडंबना ये भी है कि पुलिस प्रशासन अभी तक प्रतिमा तोड़ने वाले को गिरफ्तार नहीं कर पाया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: कल किस डिपो से कितने रूट पर दौड़ेंगी HRTC बसें, ये रही पूरी लिस्ट

बता दें कि आअल 2002 में शहीद हितेश शर्मा की प्रतिमा को 2003 में स्थापित किया गया था। वहीं, बीते साल 2020 के स्वतंत्रता दिवस के दिन इस प्रतिमा को अज्ञात लोगों ने तोड़ दिया था। वहीं, इस मामले की ख़बरें मीडिया में आने के बाद प्रशासन हरकत में आया था। पार्क से कुछ ही दूरी पर प्रतिमा का धड़ मिल गया था। 

स्थानीय समाजसेवी और पूर्व पंचायत सदस्य ने सुनाई व्यथा 

स्थानीय निवासी व समाजसेवी जय प्रकाश चौहान ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि शहीद हितेश शर्मा के परिजनों को लेकर गत वर्ष दो-तीन बार वह उपायुक्त से मिले थे। उपायुक्त ने प्रतिमा के मरम्मत के लिए दो लाख का प्रावधान भी करवाया था। लेकिन 10 महीने बीत जाने पर भी प्रतिमा ठीक नहीं हो पाई।    

यह भी पढ़ें: हिमाचल: अस्थि विसर्जन कर लौट रहा था परिवार, अचानक से टूट गया कार का टायर रॉड

पूर्व पंचायत समिति सदस्य शकुंतला प्रकाश ने बताया कि 11 जून को वह शहीद हितेश शर्मा के शहीदी दिवस पर उनकी प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित करने पहुंची तो यह देखकर बहुत दुख हुआ कि 10 महीने बीत जाने के बाद भी प्रतिमा की मरम्मत नहीं हो पाई है। प्रशासन की यह लापरवाही दुर्भाग्यपूर्ण है। शकुंतला प्रकाश ने बताया कि पिछले महीने शहीद हितेश शर्मा की माता का भी निधन हो गया है, जो जीते जी अपने शहीद बेटे की प्रतिमा की मरम्मत नहीं देख पाई। 

Post a Comment

0 Comments