हिमाचल: प्राइवेट बस ऑपरेटर्स की बैठक संपन्न, बस चलाने को लेकर यह हुआ फैसला; जानें

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: प्राइवेट बस ऑपरेटर्स की बैठक संपन्न, बस चलाने को लेकर यह हुआ फैसला; जानें

शिमला। हिमाचल प्रदेश में कल से करीब महीने भर बाद बसों का संचालन शुरू होने वाला है. अब एक तरफ जहां सूबे में कल से परिवहन निगम की बसे सडकों पर फर्राटा भरेंगी. वहीं, निजी बसों के पहिए हड़ताल की वजह से थमे रहने वाले हैं. हिमाचल प्रदेश निजी बस ऑपरेटर संघ की बैठक कुछ देर पहले ही समाप्त हुई है, इसमें राज्य के तमाम जिलों ने हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में बदलने वाला है पेंशन का नियम- ये लोग हो जाएंगे दायरे से बाहर

हिमाचल निजी बस ऑपरेटर यूनियन ने फैसला लिया है कि जब तक सरकार उनकी पूरी मांगों नहीं मान लेती, तब तक हड़ताल जारी रहेगी। एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री व परिवहन मंत्री से मुलाकात कर अपनी जायज मांगों को रखेगा। तब तक प्रदेश में निजी बसें नहीं चलेगी। वहीं, निजी बस ऑपरेटर यूनियन ने सरकार से समन्वय स्थापित करने के लिए सिरमौर निजी बस ऑपरेटर यूनियन के अध्यक्ष मामराज शर्मा की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: मां के मजाक को बेटे ने लिया सीरियस, सेना में लेफ्टिनेंट बनकर पूर किया ख़्वाब

संघ ने कहा कि उम्मीद है कि तमाम ऑपरेटर प्रदेश कार्यकारिणी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहेंगे, जब तक की जायज मांगों को सरकार मान नहीं लेती। आज हुई बैठक में यह तय किया गया कि जब तक सरकार द्वारा बस ऑपरेटर की मांगों को पूर्ण रूप से नहीं माना जाता, तब तक हड़ताल जारी रहेगी और भविष्य में इसे और भी उग्र कर दिया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में तबादले: ये सात HAS बनेंगे IAS अफसर, फिर होंगे उपायुक्‍तों के ट्रांसफर- पढ़ें डीटेल

इस बारे बैठक में सभी जिला की यूनियन के प्रधानों ने एकमत से प्रस्ताव पारित किया। हिमाचल प्रदेश निजी बस ऑपरेटर संघ के प्रदेश महासचिव रमेश कमल ने कहा कि निजी बस ऑपरेटर की राय है कि सरकार द्वारा निजी बस ऑपरेटर को बेवकूफ बनाया गया, जबकि कोई भी ऐसा फैसला बस ऑपरेटर के हित में नहीं लिया, जिससे कि बस अब ऑपरेटर को लाभ मिल सके। 

Post a Comment

0 Comments