हिमाचल: नदी किनारे दबा मिला था कंकाल- अब 6 माह के बच्चे का DNA करेगा खुलासा

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: नदी किनारे दबा मिला था कंकाल- अब 6 माह के बच्चे का DNA करेगा खुलासा


सिरमौरः
हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की सीमा पर मीनस के समीप सैंज नामक स्थान से बीते कल एक नर कंकाल बरामद किया गया था। जिसके मिलने के बाद इस बात की आशंका जताई गई थी कि यह कंकाल उस हिमाचली महिला का हो सकता है जो अपने 22 दिनों के नवजात शिशु को घर में अकेला छोड़ कर अचानक कहीं गायब हो गई थी। 

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार ने खोले ताले, तो स्वास्थ्य विभाग ने किया अलर्ट: कहा- छूट से फिर बढ़ सकते है केस

वहीं, अब खबर सामने आ रही है कि शुक्रवार को थाना के एसएचओ ने टीम के साथ टौंस नदी के किनारे पर उस स्थान का फिर से मुआयना किया जहां पर वीरवार के दिन एक नर कंकाल को बरामद किया गया था। नर कंकाल को उत्तराखंड की राजस्व पुलिस द्वारा फोरेंसिक परीक्षण और डीएनए जांच के लिए देहरादून भेजा गया है। जहां पर फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम द्वारा उसकी बारीकी से जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें: देवभूमि शर्मसार: 26 वर्षीय युवती के घर में घुसा 35 वर्षीय- जबरन लूट ली आबरू

वहीं, हिमाचल पुलिस द्वारा झकांडों पंचायत के कुफ्फोटी गांव से बीते वर्ष दिसंबर माह से लापता चल रही 22 वर्षीय पिंकी के 6 माह के दुधमुंहे बच्चे का डीएनए टेस्ट करवाने के लिए उसे सिविल अस्पताल शिलाई ले जाया गया, ताकि मृतक के डीएनए सैंपल से लापता महिला के बच्चे के डीएनए सैंपल को मैच किया जा सके।

यहां पढ़ें क्या है पूरा मामला 

बीते कल नदी किनारे नर कंकाल मिलने के जानकारी मिलने के बाद हिमाचल पुलिस और उत्तराखंड राज्य की प्रशासनिक टीमें मौके पर पहुंची थीं। इसके बाद दोनों ने मिलकर पत्थरों के नीचे मिट्टी में दबे हुए कंकाल को बाहर निकाला था। हालांकि कंकाल टौंस नदी के उस पार से बरामद हुआ है, तो इस वजह से कंकाल को उत्तराखंड राज्य के राजस्व विभाग द्वारा अपने कब्जे में लिया गया था। फिलहाल ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि कंकाल महिला का है या किसी पुरुष का है।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः खड्ड में भांजे के साथ नहाने गया था 21 वर्षीय मामा, तेज हुआ बहाव-डूबने से गई जान

वहीं, जिस हालात में कंकाल मिला है, उससे प्रथम दृष्टया यही लगता है कि पूरी प्लानिंग के साथ हत्या के बाद शव को मिट्टी में दफनाकर ठिकाने लगाया गया है। इस मामले पर स्थानीय बीडीसी सदस्य महेंद्र सिंह चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि जिस जगह नर कंकाल मिला है, वो जगह टौंस नदी से काफी दूर है और आज तक कभी भी टौंस नदी का जलस्तर वहां तक नहीं पहुंचा है। ऐसे में ये शव टौंस नदी में बहकर यहां नहीं आ सकता है। 

यह भी पढ़ें: हद हो गई यार: सोशल मीडिया पर फ़ैल गई 'राजा साहब' की मौत की अफवाह, होगी FIR!

इसके साथ ही उन्होंने दावा किया है कि किन्हीं शातिरों द्वारा सुनियोजित तरीके से हत्या करके शव को इस जगह दफनाया गया है क्योंकि यहां कोई भी आता-जाता नहीं है। गौरतलब है कि बीते वर्ष दिसंबर महीनें में पुलिस थाना शिलाई में झकांडों की एक महिला की गुमशुदगी का मामला दर्ज करवाया गया था। महिला अपने 22 दिनों के नवजात शिशु को घर में अकेला छोड़ कर अचानक कहीं गायब हो गई थी। कई महीनों तक तलाशने के बाद भी लापता महिला का अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। 

यह भी पढ़ें: देवभूमि शर्मसार: 26 वर्षीय युवती के घर में घुसा 35 वर्षीय- जबरन लूट ली आबरू

इस बीच अब ये नर कंकाल बरामद होने की खबर सामने आई है। जहां ये कंकाल मिला है वह जगह लापता महिला के गांव से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर है। इसी को ध्यान में रखते हुए हिमाचल पुलिस ने लापता महिला के परिजनों को भी शिनाख्त करने के लिए मौके पर बुलाया था। मगर नर कंकाल की क्षत-विक्षत हालत होने की वजह से परिजनों द्वारा उसकी पहचान करने में असमर्थता जताई गई है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल की 12 वर्षीय बेटी ने योग के क्षेत्र में बनाया वर्ल्ड रिकॅार्ड, बनी हिमाचल की ब्रांड एंबेसडर

वहीं, इस पूरे मामले पर राजस्व सर्कल बुल्हाड़ के उपनिरीक्षक प्रभु सिंह चौहान ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि नर कंकाल को कब्जे में लेकर फॉरेंसिक जांच के लिए देहरादून भेजा जा रहा है। फिलहाल मृतक की पहचान नहीं हो पाई है। प्रथम दृष्टया मामला हत्या का प्रतीत हो रहा है, लिहाजा हर पहलू की बारीकी से जांच की जा रही है।

Post a Comment

0 Comments