हिमाचल: कब शुरू होगी इंटरस्टेट बस सर्विस- जानें क्या कहते हैं परिवहन विभाग के अधिकारी

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: कब शुरू होगी इंटरस्टेट बस सर्विस- जानें क्या कहते हैं परिवहन विभाग के अधिकारी


शिमला।
हिमाचल में प्रदेश सरकार ने बस सेवा को बहाल कर दिया है, लेकिन इंटर स्टेट बस सेवा के लिए लोगों को अभी इंतजार करना पड़ सकता है। परिवहन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि सरकार की ओर से इंटर स्टेट बस सेवा चलाने के लिए कोई संकेत नहीं मिले हैं, ऐसे में इंटर स्टेट बसों के संचालन के लिए परिवहन विभाग बाहरी राज्यों के साथ फिलहाल टेकअप नहीं कर रहा है। 

यह भी पढ़ें: पंजाब पे कमीशन में ऐसा क्या है जो हिमाचल के कर्मचारियों को ठीक नहीं लगा: यहां समझें सबकुछ

वहीं हिमाचल के साथ लगते पंजाब, हरियाणा व अन्य राज्यों में भी अभी तक इंटर स्टेट बस सेवा बहाल नहीं की गई है। जब तक बाहरी राज्यों में इंटर स्टेट बस सेवा बहाल नहीं होती है हिमाचल में भी इंटर स्टेट बस सेवा बहाल होना मुश्किल है। 

हिमाचल में बाहर से आने वाले लोगों के लिए सरकार की ओर से कोविड ई-पास की व्यवस्था जारी रखी गई है, ऐसे में यदि इंटर स्टेट बस सेवा को बहाल किया जाता है तो फि र बाहर से आने वाले लोगों की मॉनीटरिंग करने में भी परेशानी सामने आएगी। 

यह भी पढ़ें: इस दिन होगी जयराम कैबिनेट की अगली बैठक: खुलेंगे मंदिर- सभी कर्मचारी दफ्तर बुलाए जाएंगे!

अधिकारियों का कहना है कि इंटर स्टेट बसों के चलने से कोविड ई-पास की मॉनीटरिंग करने के लिए व्यवस्था तैयार करनी होगी। उसके बाद ही इंटर स्टेट बसों को बहाल किया जा सकता है। उधर, एचआरटीसी अधिकारियों का कहना है कि इंटर स्टेट बसों के संचालन को लेकर फैसला सरकार की ओर से लिया जाएगा। सरकार की ओर से जैसे ही इंटर स्टेट बसों के संचालन के लिए आदेश दिए जाते हैं निगम बसें चलाना शुरू कर देगा।

महंगा पड़ रहा दिल्ली-चंडीगढ़ का सफर

इंटर स्टेट बसें न चलने से प्रदेश के लोगों को हिमाचल से बाहर जाना महंगा पड़ रहा है। लोगों को दिल्ली व चंडीगढ़ जाने के लिए टैक्सियां बुक करनी पड़ रही हैं। बसों में जहां बाहर जाने के लिए 500 से 1000 रुपए का किराया देना पड़ता था, वहीं टैक्सियों में 3 हजार से 7 हजार रुपए देने पड़ रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: नदी-नालों के पास मत जाना; 6 जिलों में 26 तक होगी बारिश, अंधड़ और ओलावृष्टि भी

शिमला से चंडीगढ़ जाने के लिए टैक्सी चालक 2800 रुपए जबकि दिल्ली के लिए 7 हजार से 7500 रुपए ले रहे हैं, वहीं जम्मू के लिए 9 हजार रुपए में टैक्सी बुक हो रही है।

एचआरटीसी ने कम किए रूट

रविवार को सवारियां कम होने के कारण एचआरटीसी ने प्रदेश में रूट कम किए हैं। वर्किंग-डे में जहां एचआरटीसी 1600 से ज्यादा रूटों पर बसें चला रहा था, वहीं रविवार को निगम ने 50 प्रतिशत कम रूटों पर बसें चलाईं। निजी बस ऑप्रेटरों ने प्रदेश में करीब 600 बसें चलाईं। सोमवार को सवारियां बढऩे पर रूट भी बढ़ाए जाएंगे।

Post a Comment

0 Comments