हिमाचल में नेता की हत्या करने वाला मोस्ट वांटेड गैंगस्टर 'जयपाल भुल्लर' एनकाउंटर में ढेर

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल में नेता की हत्या करने वाला मोस्ट वांटेड गैंगस्टर 'जयपाल भुल्लर' एनकाउंटर में ढेर

शिमला/चंडीगढ़। पंजाब पुलिस ने सूबे के दो बड़े गैंगस्टरों को बुधवार को कोलकाता में हुए एक एनकाउंटर में ढेर कर दिया। मारे गए गैंगस्टरों के नाम जयपाल भुल्लर और जसप्रीत जस्सी हैं। बताया जा रहा है कि एनकाउंटर में पंजाब पुलिस और कोलकाता की लोकल STF शामिल थी। 

यह भी पढ़ें: साल का पहला सूर्यग्रहण आज: इन 5 राशि वालों के जीवन में लाएगा खुशियां, जा‍निए समय व प्रभाव

इस मोस्ट वांटेड गैंगस्टर 'जयपाल भुल्लर' के तार हिमाचल प्रदेश से उस वक्त जुड़ गए थे, जब इसने फाजिल्का के पॉलिटिकल लीडर व गैंगस्टर रॉकी की हिमाचल प्रदेश के परवाणु टिंबर ट्रेल के पास हत्या कर दी थी। उसकी जिम्मेदारी लेते हुए उसने अपने सोशल मीडिया पेज पर वारदात वाली फोटो भी शेयर की थी। सोलन में चश्मदीद परमपाल पाल और हरप्रीत सिंह के बयान पर हिमाचल पुलिस ने जयपाल व उसके गिरोह पर हत्या का केस दर्ज किया था।

यहां पढ़ें इस गैंगस्टर की लाइफस्टोरी 

एक सिपाही का बेटा जयपाल भुल्लर- फिरोजपुर से ताल्लुक रखने वाले भुल्लर का लुधियाना से पुराना नाता था। राष्ट्रीय स्तर के हैमर थ्रोअर, उनके खेल करियर ने 2003 में गति पकड़ी थी, जब वह लुधियाना में सरकार द्वारा संचालित प्रशिक्षण केंद्र स्पीड फंड अकादमी में शामिल हुआ था। इसके बाद उसने जुलाई 2004 में एक सिनेमा हॉल मालिक के सात साल के बेटे का अपहरण कर अपराध की दुनिया में अपना पहला कदम रखा था।


यह भी पढ़ें: जयराम कैबिनेट कल: 25 जून के बाद कॉलेजों में परीक्षा! 3 महीने स्कूल खोलने के पक्ष में नहीं अभिभावक

राजीव राजा था भुल्लर का पहला साथी

इसके बाद भुल्लर का खेल करियर पूरी तरह समाप्त हो गया और जेल में अन्य गैंगस्टरों के संपर्क में आने से उसके अपराध ग्राफ ने उड़ान भरी। राजीव राजा भुल्लर का पहला साथी था, जोकि 2006 में लुधियाना में एक जौहरी के परिवार के तीन सदस्यों की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बाद में, जमानत पर बाहर, भुल्लर शेरा से मिले, जिसके साथ उन्होंने एक गिरोह बनाने का फैसला किया। जनवरी 2009 में दोनों ने राजा को बरनाला बस स्टैंड पर पुलिस हिरासत से भागने में मदद की।

गैंगस्टर रॉकी के साथ भी बनाया था गिरोह

इस गिरोह ने मिलकर होशियारपुर में एक बंदूक घर सहित कई डकैती की। इसके बाद इन्होंने मोहाली और पंचकुला में कई अपराध किए। चंडीगढ़ में गिरफ्तार भुल्लर फाजिल्का के गैंगस्टर रॉकी के संपर्क में आया और नया गिरोह बना लिया। 

यह भी पढ़ें: हिनाचलः 28 वर्षीय सेल्समैन ने घर में लगाया फंदा, टूटी जीवन की डोर

गवाह न मिलने के कारण जुलाई 2010 में गैंगस्टरों को बरी कर दिया गया और इसके बाद जल्द ही दोनों के बीच दरार आ गई। 2015 में हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के परवाणू में भुल्लर द्वारा मारे जाने से पहले रॉकी ने राजनीति में प्रवेश करने का फैसला किया और कथित तौर पर कई गैंगस्टरों का शिकार करने में पुलिस की मदद की थी।

भुल्लर ने की थी 30 किलोग्राम सोने की लूट

भुल्लर ने फरवरी 2020 में लुधियाना की एक फर्म में 30 किलोग्राम सोने की लूट को अंजाम देने के अलावा 2017 में वह बनूर में 1.33 करोड़ की नकद वैन डकैती का भी मास्टरमाइंड किया था।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: बड़ी राहत- HRTC के साथ प्राइवेट बसें भी दौड़ेंगी! ऑपरेटर्स के टैक्स माफ़ करने की तैयारी

बुधवार को पंजाब पुलिस ने दो बड़े गैंगस्टरों जयपाल भुल्लर और जसप्रीत जस्सी को कोलकाता में हुए एक एनकाउंटर में ढेर कर दिया। बताया जा रहा है कि एनकाउंटर में पंजाब पुलिस और कोलकाता की लोकल STF शामिल थी। गैंगस्टर जयपाल भुल्लर का नाम पिछले दिनों लुधियाना के जगराओं में CIA (क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी) स्टाफ के दो ASI की हत्या में सामने आया था।

Post a Comment

0 Comments