हिमाचल-पंजाब के विधानसभा चुनाव में नेता नहीं रोबोट देंगे रैलियों में भाषण! जानिए क्या है माजरा

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल-पंजाब के विधानसभा चुनाव में नेता नहीं रोबोट देंगे रैलियों में भाषण! जानिए क्या है माजरा

नई दिल्लीः हिमाचल समेत छह राज्यों के विधानसभा चुनाव अगले साल यानि 2022 में होने हैं। इस विधानसभा चुनाव में नेताओं के बदले रोबोट चुनाव प्रचार करते हुए नजर आ सकते हैं। इस बाबत तैयारियां चल रही हैं। इसी साल तमिलनाडु में हुए चुनाव में इसकी पेशकश की भी गई थी।

राजीतिक दलों की सेवा के लिए तैयार है रोबोट: कंपनी

दरअसल, इसके पीछे तर्क यह दिया जा रहा है कि कोरोना महामारी के चलते सार्वजनिक सभाओं से बचने के लिए ह्यूमनॉइड रोबोटों का प्रयोग किया जा सकता है। इसे बनाने वाली कंपनी की मानें तो वे अगले साल कई राज्यों में आयोजित होने चुनावों के लिए इन रोबोट प्रचारकों को इस्तेमाल में लाए जाने को लेकर राजनीतिक दलों के साथ बातचीत कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: CM जयराम ने दिए सूबे में और ढील देने के संकेत, शादियों को लेकर क्या बोले जानें

बता दें कि वनस्टैंड इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने इस मकसद से 'दूत' नामक एक ह्यूमनॉइड रोबोट को विकसित किया है, जो अलग-अलग आवाजों को पहचाने, चेहरे की पहचान करने और हावभावों को समझने की क्षमता रखता है। यह दूत नामक रोबोट महामारी के बीच अपने संदेशों के साथ लोगों के एक सीमित समूह तक पहुंचकर राजनीतिक दलों की सेवा करने के लिए तैयार है।

जानें रोबोट की सभी खासियत:

रोबोट दूत के रोवर में एक बड़ा व्हीलबेस है, जिसमें ऑल-व्हील-ड्राइव गियरबॉक्स है, जो इसे खुरदरी सतहों पर भी आसानी से चलने में सक्षम बनाता है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई)-सक्षम आवाज पहचान के माध्यम से, ह्यूमनॉइड रोबोट राजनेता की ओर से जनता को संबोधित करेगा।  2022 में जिन राज्यों में चुनाव होंगे, उनमें हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और गुजरात शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल पुलिस को मिली बड़ी सफलता, Alto कार बरामद की मोर पंख और कलगी

कंपनी की एक टीम द्वारा समय-समय पर प्रश्नों और इंटरैक्शन की समीक्षा की जाएगी, जिसके पास प्रत्येक समीक्षा के बाद अपडेट किए गए सामान्य प्रश्नों का उत्तर होगा। एक कस्टम-निर्मित सर्वो मोटर से लैस है, जो पूरे ऊपरी शरीर को आसानी से झुकने और उठाने में सक्षम बनाता है। ह्यूमनॉइड रोबोट 140 डिग्री की स्वतंत्रता के साथ खुद को मोड़ भी सकता है, जिससे यह ऐसा करने वाला देश का एकमात्र ह्यूमनॉइड रोबोट बन जाता है।

Post a Comment

0 Comments