गुड़िया मामला: पूरी हुई नीलू की सजा पर बहस- सजा के ऐलान को दी गई यह फाइनल डेट

Ticker

6/recent/ticker-posts

गुड़िया मामला: पूरी हुई नीलू की सजा पर बहस- सजा के ऐलान को दी गई यह फाइनल डेट

शिमला। हिमाचल प्रदेश राजधानी शिमला के साथ लगते कोटखाई क्षेत्र में दसवीं की छात्रा से रेप के बाद मर्डर मामले में दोषी करार दिए गए चिरानी नीलू की सजा पर मंगलवार को बहस पूरी हुई। मंगलवार को अभियुक्त नीलू को कोर्ट में पेश किया गया, जहां CBI के विशेष जज राजीव भारद्वाज की कोर्ट में दोषी की सज़ा को लेकर अभियोजन व बचाव पक्ष के वकीलों के बीच बहस हुई। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: ड्राइवर से छूटा बजरी लदे टिप्पर का कंट्रोल, खाई में जा गिरा तेज रफ्तार वाहन

दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद जस्टिस राजीव भारद्वाज ने सज़ा सुनाने के लिए 18 जून की तारीख फाइनल की है। गौरतलब है कि गुड़िया दुष्कर्म व हत्याकांड में सीबीआई की ओर से पेश चालान में दोषी साबित हुए चरानी अनिल उर्फ नीलू को शिमला की विशेष अदालत ने 28 अप्रैल को दोषी करार दिया था। 

यह भी पढ़ें: हिमाचली चचा: चेहरा मासूम-दिल च शैतानी, चिट्टे के साथ पकड़ाए फिर घर से निकला लाखों का जखीरा

बता दें जिला शिमला के कोटखाई की एक छात्रा 4 जुलाई, 2017 को  लापता हो गई थी। 6 जुलाई को कोटखाई के तांदी के जंगल में पीड़िता का शव मिला। जांच में पाया गया कि छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी। किशोरी के साथ दरिंदगी की इस वारदात के खिलाफ जबरदस्‍त जनाक्रोश देखने को मिला था। आक्रोशित लोगों की भीड़ ने कोटखाई थाने को आग के हवाले कर दिया था। प्रदेश हाईकोर्ट ने मामले की जांच सीबीआई के सुपुर्द की थी। 

यह भी पढ़ें: आज सजेगी BJP के दिग्गजों की महामहफ़िल: उससे पहले धूमल-अनुराग के चक्कर काट रही टीम BJP

सीबीआई ने डीएनए परीक्षण के आधार पर अप्रैल 2018 में नीलू नामक चिरानी को गिरफ्तार किया था। जुलाई 2018 में सीबीआई ने नीलू के विरुद्ध कोर्ट में चालान पेश किया था। इस मामले में सीबीआई ने 55 गवाहों के बयान दर्ज किए। अदालत ने भारतीय दंड संहिता और बच्चों के यौन अपराध से संरक्षण कानून की विभिन्न धाराओं के तहत नीलू को दुष्कर्म और हत्या का दोषी करार दिया है।

Post a Comment

0 Comments