विधानसभा अध्यक्ष ने दिखाया बड़ा दिल: 8 साल में अनाथ हुई कशिश को लेंगे गोद

Ticker

6/recent/ticker-posts

विधानसभा अध्यक्ष ने दिखाया बड़ा दिल: 8 साल में अनाथ हुई कशिश को लेंगे गोद

पालमपुर। कोरोना संक्रमण से कई लोगों ने अपने सगे और करीबी खोए हैं। कोरोना से कई लोग असमय मौत का ग्रास बने हैं। जिससे देश-प्रदेश में हजारों ऐसे बच्चे भी सामने आए हैं जिनके माता-पिता कोरोना के शिकार बने और ये अनाथ हो गये हैं। सुलाह हलके के डगेरा गांव की अभागी कशिश राणा भी इसमें शामिल है। जो मात्र आठ वर्ष की आयु में ही अनाथ हो गई है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल BJP कसेगी उपचुनाव के लिए कमर: 15 से 17 जून तक होगी कोर ग्रुप की बैठक

कशिश के पिता रिंकू राणा की पहले ही मौत हो गई थी कि इसकी माता सुनीता देवी को कोरोना ने अपना शिकार बना लिया। पिता का साया पहले ही सिर से उठ गया था कि माता के भी असमय देहांत से छोटी सी बच्ची पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। छोटी सी उम्र में कुछ सोचने और समझने में असमर्थ कशिश चुपचाप आने जाने वालों की ओर टकटकी लगाए रहती है कि उसकी मां भी आएगी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: शिक्षा की आड़ में हो रहा नशे का कारोबार, चिट्टे की खेप के साथ 21 वर्षीय छात्र अरेस्ट

विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार इस घटना की जानकारी के बाद आगे आए और इन्होंने कशिश राणा को गोद लेकर इसकी पढ़ाई-लिखाई एवं अन्य सभी खर्चों की जिम्मेदारी अपने ऊपर ली है। शनिवार को विधानसभा अध्यक्ष, कशिश के घर डगेरा पहुंचे और परिजनों से भेंट कर इस घटना पर दुख जताया। उन्होंने अपनी तथा सरकार की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

Post a Comment

0 Comments