हिमाचल वीडियो वायरल: पूरी रात खुले में चहलकदमी करते रहे दो तेंदुए, परिवार की उड़ी नींद

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल वीडियो वायरल: पूरी रात खुले में चहलकदमी करते रहे दो तेंदुए, परिवार की उड़ी नींद

मंडीः हिमाचल प्रदेश के विभिन्न जिलों में बीते कुछ दिनों से अलग अलग जगहों पर तेंदुए के देखे जाने की खबरें सामने आ रही है। इसी कड़ी में ताजा मामला प्रदेश मंडी जिले से सामने आया है, जहां वन विभाग की एक बड़ी लापरवाही के चलते नगर परिषद के चांगर वार्ड में पूरी रात दो तेंदुए लगभग दो घंटों तक इलाके में चहलकदमी करते रहे। जिस वजह से क्षेत्र में दहशत का महौल बना हुआ है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: लैंडस्लाइड से दरकी पहाड़ी- चपेट में आई दो महिलाओं की गई जान, 5 पहुंचे अस्पताल

तेंदुए की मौजूदगी का पता तब लगा जब घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में ये वारदात कैद हुई। बता दें कि इससे पहले भी तेंदुए ने क्षेत्र में घास काट रही एक 60 वर्षीय महिला पर हमला किया था। लेकिन इसके बाबजूद वन विभाग की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। 


वीडियो क्रेडिट: ETV भारत हिमाचल प्रदेश 

चांगर वार्ड के स्थानीय निवासी रोनित सैनी ने जानकारी देते हुए बताया कि बीती रात घर के बाहर तेंदुओं के गुर्राने की आवाज सुनाई दी। इस पर डर के मारे घर का कोई भी सदस्य बाहर नहीं निकला। जब सुबह सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखा गया तो उसमें दो तेंदुए घूमते हुए दिखे। 

वन विभाग नहीं उठा रहा कोई ठोस कदम-

इस पूरे मामले में स्थानीय लोगों का कहना है कि इससे पहले भी क्षेत्र में तेंदुए द्वारा खूब आतंक मचाया जा चुका है। इस मामले पर कई बार वन विभाग को भी शिकायत दी गई है। लेकिन अभी तक विभाग द्वारा इस मसले पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। उन्होंने कहा कि चांगर क्षेत्र की जनसंख्या लगभग 400 के करीब है और तेंदुओं द्वारा बार-बार अपनी मौजूदगी जाहिर करने से कभी भी कोई बड़ा हादसा पेश आ सकता है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: आम तोड़ने पेड़ पर चढ़ी थी 46 वर्षीय महिला, पैर फिसला-नीचे गिरे; नहीं बची जान

वहीं, लोगों ने क्षेत्र में खुलेआम घूम रहे तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग से पिंजरे लगाने की मांग भी की है। हैरानी की बात तो ये है कि वन विभाग को इतनी शिकायतें देने के बाबजूद अबतक इस मसले का कोई हल नहीं निकाला गया है। क्या विभाग कोई बड़ा हादसा होने का इंतजार कर रहा है? आखिरकार कब वन विभाग सख्ते में आएगा। ताकि लोगों को यूं तेंदुए के कारण डर-डर कर ना जीना पड़े।

Post a Comment

0 Comments