किन्नौर भूस्खलन: हिमाचल भवन पहुंचे पर्यटकों के शव, कुदरत ने पहले दिया था अलर्ट- पर नहीं माने

Ticker

6/recent/ticker-posts

किन्नौर भूस्खलन: हिमाचल भवन पहुंचे पर्यटकों के शव, कुदरत ने पहले दिया था अलर्ट- पर नहीं माने

किन्नौर: रविवार को हुए भूस्खलन में मृत पर्यटकों का शव दिल्ली स्तिथ हिमाचल भवन भेज दिया गया है। जहां आवासीय आयुक्त परिजनों को शव सौपेंगे। वहीं, इस हादसे से पहले प्रकृति ने चेतावनी दी थी। लेकिन प्रशासन ने उसे गंभीरता से नहीं लिया।

ड्राइवर की होशियारी से सुरक्षित बचे थे सब:

बता दें कि रविवार को इस हादसे से एक दिन पहले यानी शनिवार को भी उक्त सड़क पर भूस्खलन हुई थी। पत्थर गिरने की वजह से एक अन्य गाड़ी भी चपेट में आया था। लेकिन ड्राइवर के सूझ-बूझ का परिचय देते हुए समय रहते सवारियों समेत गाड़ी से बाहर निकल गया। जिस कारण नुक्सान सिर्फ गाड़ी का हुआ।

यह भी पढ़ें: किन्नौर भूस्खलन: वाहन से छिटककर बाहर गिरे दो लोग, चट्टान के नीचे छिपकर बची जान

वहीं, इस घटना को गंभीरता से नहीं लेते हुए सड़क से मलबा हटा फिर से आवाजाही के लिए खोल दिया गया। यदि भूस्खलन को गंभीरता से लेते हुए मौसम ठीक होने तक सड़क को बंद रखा जाता तो सायद इस दुर्घटना से बचा जा सकता था। खैर, अब पछताये होत क्या जब चिड़ियाँ चुग गई खेत।

प्रधानमंत्री ने व्यक्त की संवेदना:

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त की है और मृतकों के परिवार वालों को 2-2 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा की है। साथ ही प्रदेश सरकार ने भी मृतकों के परिवार वालों के लिए 4-4 लाख रुपए आर्थिक मदद का ऐलान किया है। वहीं घायलों के लिए भी 50-50 हजार रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है।

Post a Comment

0 Comments