धूमल ने कांग्रेस को बताया नेता विहीन, कहा-जल्द नया खोजें; 'राजा साहब' की तारीफ में पढ़े कसीदे

Ticker

6/recent/ticker-posts

धूमल ने कांग्रेस को बताया नेता विहीन, कहा-जल्द नया खोजें; 'राजा साहब' की तारीफ में पढ़े कसीदे


शिमला/हमीरपुर:
पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के जाने से अनाथ हुई कांग्रेस पार्टी को नेता विहीन होने का तमगा लग गया है। पूर्व सीएम धूमल के एक बयान ने इस शोभा को और अधिक बढ़ा दिया है।

कांग्रेस को जल्द ढूंढना होगा नेता: धूमल

बता दें कि मीडिया से बात करते हुए प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को जल्द एक नए नेता की तलाश करनी होगी। धूमल की बातों से साफ था कि कांग्रेस पार्टी को जल्द नेता नहीं मिलता है तो आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को घुटने के बल रेंगना पर सकता है। 


गौरतलब है कि आंतरिक गुटबाजी में पहले से ही फंसी कांग्रेस पार्टी के लिए वीरभद्र सिंह का जाना दोहरी नुकसान है। 

कई गुटों में बंटी है प्रदेश कांग्रेस:

यदि वीरभद्र के पुत्र विक्रमादित्य को आगे किया जाता है तो वरिष्ठ नेता नाराज हो जाएंगे। बाली को आगे किया तो राजा गुट को नागवार गुजरेगा। राजा गुट जिसमें आशा कुमारी, मुकेश अग्निहोत्री सरीखे नेता हैं। इस गुट से कोई चेहरा बनता है तो नीचली क्षेत्रों में मजबूत बाली का विरोध झेलना पड़ सकता है। 


हालांकि, प्रेम कुमार धूमल ने कांग्रेस पर तंज कसने के बाद वीरभद्र सिंह के व्यक्तित्व की तारीफें की। साथ ही उनके साथ जुड़ी यादें भी साझा कीं।

धूमल ने की वीरभद्र सिंह की तारीफ:

उन्होंने कहा कि जब वह पहली बार मुख्यमंत्री बने तो कुर्सी पर बैठने में हिचकिचाहट हो रही थी। क्योंकि राजा वीरभद्र सिंह जैसा बड़े कद का नेता उनके सामने खड़ा था। 


लेकिन वीरभद्र सिंह का यह आदर्श व्यक्तित्व था कि उन्होंने धूमल को पकड़ कर कुर्सी पर बिठाया और कहा कि मुख्यमंत्री की कुर्सी की अलग गरिमा होती है।

Post a Comment

0 Comments