आश्रय की बीवी बोली: अनिल ने 9 महीने की गर्भवती होने पर मुझे घर से निकाला, अपने पिता को भी..

Ticker

6/recent/ticker-posts

आश्रय की बीवी बोली: अनिल ने 9 महीने की गर्भवती होने पर मुझे घर से निकाला, अपने पिता को भी..

मंडी। हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले की लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव से पहले एक बड़ा सियासी और घरेलू भूचाल खड़ा हो गया है। दरअसल, पिछले बार के लोकसभा चुनाव में मंडी सीट से कांग्रेस उम्मीदवार रहकर बुरी तरह से हार का सामना करने वाले कांग्रेस नेता और कांग्रेस के प्रदेश महासचिव आश्रय शर्मा की पत्नी राधिका गंभीर शर्मा ने एक सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से अपने ससुर और बीजेपी के कथित बागी विधायक अनिल शर्मा पर बड़ा ही गंभीर आरोप लगाया है। 

 यह भी पढ़ें: जयराम सरकार ने स्कूल तो खोला ही कोचिंग खोलने को भी दी मंजूरी, यहां पढ़ें डिटेल

आगामी उपचुनावों में जहां इस बात की उम्मीद की जा रही थी कि पंडित सुखराम का परिवार अपने सारे दांव-पेंच दिखाएगा। वहीं, अब यह सियासी घराना अपने घर के ही मसले का शिकार पूरे समाज में बनता नजर आ रहा है। दरअसल, आश्रय शर्मा की पत्नी राधिका गंभीर शर्मा ने अपने ससुर के खिलाफ एक सोशल मीडिया पोस्ट की है। जिसमें राधिका ने अनिल शर्मा पर उन्हें प्रताड़ित करने और घर से निकलने का आरोप लगाया है। 

यह सब सिर्फ इसलिए कि उन्हें अपने मंत्रालय से इस्तीफा देना पड़ा था

इतना ही नहीं राधिका ने इस बात का भी दावा किया है कि अनिल शर्मा ने अपने 93 वर्षीय पिता को भी घर से बाहर निकाल दिया है। गौरतलब है कि हिमाचल की सियासत में इतना बड़ा ओहदा रखने वाले पंडित सुखराम के बारे में इस तरह की बात निकलकर सामने आना- शर्मा परिवार के लिए काफी शर्मनाक है। 

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार का फैसला: सचिवालय के साथ-साथ इन विभागों में होगी 111 पदों पर भर्ती, पढ़ें डीटेल

राधिका अपने फेसबुक अकाउंट से किए गए इस पोस्ट में लिखती हैं कि आज मेरे ससुर ने मुझे हमारे होटल में सैलून चलाने के लिए नोटिस भेजा है। दहेज प्रताड़ना के 6 साल बाद जब मेरे परिवार ने उनसे और पैसे देने से मना कर दिया तो उन्होंने मुझे यह नोटिस भेजा है।


आज मेरे ससुराल वालों से मेरे सारे संबंध टूट गए हैं। यह सब सिर्फ इसलिए कि उन्हें अपने मंत्रालय से इस्तीफा देना पड़ा था। पैसे और सत्ता की भूख व सब जानते हैं। 9 महीने की गर्भवती होने पर उन्होंने मुझे घर से निकाल दिया। एक शख्स जो 93 साल की उम्र के अपने ही पिता को घर से निकाल सकते हैं और अपने ही बेटे के साथ ऐसा कर सकते हैं, मैं उससे क्या उम्मीद कर सकती हूं। लेकिन अगर मेरा परिवार यानी सदर के लोग मेरे साथ खड़े हैं तो मुझे किसी बात का डर नहीं है। हम पीछे हटने वाले नहीं हैं।


अनिल शर्मा का मंडी शहर में द रीजेंट पाल्म्स होटल है। अनिल शर्मा व उनका बड़ा बेटा कांग्रेस महासचिव होटल संचालित करने वाली कंपनी के निदेशक हैं। अपनी बहू राधिका गंभीर को भेजी नोटिस में अनिल शर्मा का कहना है कि होटल में सैलून चलाने के लिए राधिका ने करार किया था। सैलून तैयार करने के लिए आश्रय शर्मा ने 24 लाख खर्च किए थे। यह पैसा उन्होंने आश्रय शर्मा को अपने यूको बैंक के खाते से ट्रांसफर किया था। 65000 रुपये मासिक किराये के साथ बिजली पानी का बिल अदा करने की बात हुई थी। होटल की कैश बुक की जांच करने पर किराये का एक पैसा जमा नहीं हुआ। सैलून का करार सितंबर 2018 में हुआ था। 15 जुलाई को निदेशक मंडल की बैठक में किराये को लेकर चर्चा हुई और राधिका को नोटिस देने का निर्णय लिया गया था। 33 माह का किराया जो 21.45 लाख रुपये बनता है उसे जमा करवाने को कहा गया है।

Post a Comment

0 Comments