तस्वीरों में तबाही: 4 की गई जान- सैकड़ों सड़कें बंद, नदी-नाले उफान पर, दरकी पहाड़ी, लंबा जाम

Ticker

6/recent/ticker-posts

तस्वीरों में तबाही: 4 की गई जान- सैकड़ों सड़कें बंद, नदी-नाले उफान पर, दरकी पहाड़ी, लंबा जाम


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश में बीते कुछ दिनों में भारी बारिश के कारण कई इलाकों में बाढ़ व भूस्खलन की स्थिति बनी हुई है। प्रदेश अभी कांगड़ा जिले में आई प्राकृतिक आपदा से उभर नहीं पाया था कि एक बार फिर भारी बारिश ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। भारी बारिश के चलते प्रदेश के नदी-नाले उफान पर हैं। 


इतना ही नहीं सैकड़ों मार्ग अवरूद्ध हो गए हैं। जिस वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है। लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के कारण प्रदेश के विभिन्न इलाकों में भारी तबाही का मंजर देखने को मिल रहा है।


इस बीच प्रदेश के चंबा जिले में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन की चपेट में आने से एक ऑल्टो कार रावी नदी में समा गई। बताया जा रहा है कि कार में एक ही परिवार के तीन लोग सवार थे। पुलिस ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर राहत एवं बचाव अभियान चला रखा है। इस बीच अभी पुलिस एक महिला का शव बरामद हुआ है। वहीं, अन्य दो की तलाश जारी है। 


चंबा-तीसा मार्ग पर कोटी के पास आल्टो कार दुर्घटनाग्रस्त हुई है। हादसे में चालक की मौत हो गई। 


वहीं, चंबा जिले में भारी बारिश के कारण चंबा-भरमौर राष्ट्रीय राजमार्ग पर दुनाली के नजदीक पहाड़ी दरकने से हुए भूस्खलन के कारण मार्ग बंद हो गया है। जिस वजह से दोनों तरफ वाहनों की लंबी लाइनें लग गई हैं। भूस्खलन के कारण परिवहन सेवा प्रभावित हुई है जिस वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 


वहीं, इस घटना के बाद मौके पर एनएच प्रबंधन ने पहुंचकर जेसीबी की मदद से मलबा व चट्टानें हटाकर सड़क सेवा को सूचारू करने का काम छेड़ दिया है। इस बीच प्रदेश के कांगड़ा जिले स्थित उपमंडल फतेहपुर के अंतर्गत आते ग्राम पंचायत टटवाली के गांव नगोह में बीती रात करीब 11:30  बजे भारी बारिश होने के कारण अचानक नगोह खड्ड में बाढ़ आ गई। 


बाढ़ की चपेट में आने से नगोह गांव में दो मकान पूरी तरह ध्वस्त हो गए और अन्य तीन मकानों में भी काफी आंशिक नुकसान पहुंचा है। इतना ही नहीं बाढ़ की चपेट में आने से दो दुधारू गाएं पानी में बह गई। वहीं, गांव में 100 साल पुराने कुएं में मलबा भर गया है। 


आगंनबाड़ी में मौजूद राशन भी बाढ़ के पानी की चपेट में आने से पूरी तरह खराब हो गया है। वहीं, भारी बारिश ने मंडी जिले में भी अपना कहर दिखाया है। 


जहां जिले स्थित बालीचौकी क्षेत्र में भारी बारिश होने के कारण सोमवार सुबह यानी आज चैडा खड्ड में अचानक से जल स्तर बढ़ गया। जिस वजह से पानी सड़क तक आ पहुंचा। 


पानी का बहाव बढ़ते देख लोगों ने पाया कि पानी उनके घरों की तरफ आ रहा है तो वे लकड़ी, चादरों व पत्थरों से पानी का रूख सड़क से नाले की ओर करने लगे। स्थानीय लोग अगर पानी के रूख को नहीं मोड़ते तो गांव को व गांव के लोगों को भारी नुक्सान हो सकता था।

Post a Comment

0 Comments