हिमाचल: नशा मुक्ति केंद्र में घुसकर नशेड़ी ने की मारपीट और तोड़फोड़, कट्टा दिखाकर लूटे 20 हजार

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: नशा मुक्ति केंद्र में घुसकर नशेड़ी ने की मारपीट और तोड़फोड़, कट्टा दिखाकर लूटे 20 हजार

शिमला: नशा मुक्ति केंद्र में घुसकर नशेड़ी द्वारा मारपीट और तोड़फोड़ करने साथ ही कट्टा दिखाकर 20 हजार रूपए लूटने की खबर सामने आ रही है। मिली जानकारी के अनुसार मामला राजधानी शिमला के शोघी के नशा मुक्ति केंद्र का है। आरोपी नशेड़ी प्रशांत धर्माणी कुछ दिन पहले ही यहां से डिस्चार्ज हुआ था।

दो महीने रहकर हुआ था डिस्चार्ज:

केंद्र के संचालक आशीष शर्मा उर्फ़ रिपू ने बताया कि आरोपी प्रशांत ढाई महीने यहां रहकर गया था। जाने के बाद उसने नशा छोड़ा नहीं और फिर से करने लगा। प्रशांत के भाई ने उन्हें कॉल कर फिर से भर्ती करने की बात कही थी और जिस पर संचालक ने रखने से मना कर दिया था। क्योंकि प्रशांत पहले भी यहां काफी नुकसान कर चुका था।

यह भी पढ़ें: बुलावे पर दिल्ली गए CM जयराम ने की PM मोदी से भेंट, जानें किन मुद्दों पर हुई चर्चा

हालांकि, आशीष ने प्रशांत के भाई को दो अन्य दूर के नशा मुक्ति केंद्र का संपर्क नंबर भी दिया था। लेकिन प्रशांत अपने कुछ सथियों के साथ दो गाड़ी से शनिवार को केंद्र पर पहुंचा और वहां के एक कर्मी को कट्टा दिखा कर आशीष के बारे में पूछने लगा। जिस पर कर्मी ने आशीष को कॉल किया और प्रशांत से बात करवाई।

कर्मी के जेब से निकाल लिए 20 हजार:

कॉल पर बातचीत के दौरान आरोपी प्रशांत ने काफी गालीगलौज की और फिर उक्त कर्मी की पिटाई करनी शुरू कर दी। कमरे में तोड़फोड़ भी की और कर्मी के जेब में रखे 20 हजार रूपए निकाल लिए।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: घर से खेत को निकला शख्स देर रात तक घर नहीं लौटा, सड़क किनारे पड़ा मिला

संचालक आशीष ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। हालांकि, पुलिस के पहुँचने तक प्रशांत अपने दोस्तों के साथ वहां से फरार हो चुका था। आरोपी के खिलाफ बालूगंज थाना ने IPC की धारा 504,506, 452,454,380,34 और आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। सभी आरोपियों को पकड़ने के लिए कार्रवाई की जा रही है।

Post a Comment

0 Comments