हिमाचल: दुपट्टे से बनाया था झूला- 7 वर्षीय बच्ची के लिए बन गया फंदा, मौके पर टूट गया दम

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: दुपट्टे से बनाया था झूला- 7 वर्षीय बच्ची के लिए बन गया फंदा, मौके पर टूट गया दम


हमीरपुर।
हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले से एक बेहद ही दिल दहलाने वाली खबर सामने आई है। जहां खेल खेल में एक सात वर्षीय बच्ची की जान चली गई। बतौर रिपोर्ट्स, यह मामला जिले की पुलिस चौकी अवाहदेवी के तहत सामने आया है। जहां एक सात वर्षीय बच्ची की दुपट्टे से बने झूले में फंसने से मौत हो गई है। बताया गया कि यह हादसा उस वक्त पेश आया, जब बच्ची के माता पिता सोमवार सुबह वह अपने कमरे से निकलकर ऊपर की मंजिल में कार्य करने गए हुए थे। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में ऐसी बेरोजगारी: निकली थी 4 पदों पर भर्ती, आवेदन आए 800

इस दौरान इनकी बड़ी बेटी बबिता (7), बेटा अमन (5) और कंचन (1) कमरे में मौजूद थे। बताया गया कि माता पिता के कमरे से बाहर जाने के बाद सबसे बड़ी बेटी बबिता ने अंदर से कमरा बंद किया और दोनों छोटे भाई और बहनों के साथ खेलने लगी। उसने खिड़की के साथ दुपट्टे को बांधकर झूला बनाया और उसमें झूलने लगी। इसी दुपट्टे का झूला उसके गले का फंदा बन गया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: मां ने कहा- बहू के कमरे का दरवाजा मत तोड़ बेटा; मां को ही बेरहमी से पीट डाला

उसके छोटे भाई और बहन अंदर रोने लगे और अंदर से बच्चों के रोने की आवाज सुनकर माता-पिता कमरे की ओर दौड़े तो कमरा अंदर से बंद था। इसके बाद जैसे-तैसे कमरे को खोला गया, लेकिन तब तक बबिता की मौत हो चुकी थी। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने इस संबंध में जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचकर बच्ची के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया है। 

यह भी पढ़ें: इस बार बदलेगी सुजानपुर की हवा: धूमल ने कांग्रेस के गढ़ में लगाई बड़ी सेंध- राजेंद्र राणा को झटका

बताया गया कि मृतक बच्ची के माता पिता अनिल कुमार और उसकी पत्नी सुनीता देवी गांव बज्र मैड़ी तहसील दातागंज जिला बदायूं उत्तर प्रदेश तीन बच्चों सहित अवाहदेवी कस्बे में एक कमरे में रहते हैं और मजदूरी करते हैं। वहीं, अब आज उनकी सबसे बड़ी बेटी की मौत हो जाने के बाद दोनों के उपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। 

Post a Comment

0 Comments