हिमाचल जल प्रलय: NDRF ने 2 बच्चों समेत कुल 5 लोगों को जिंदा बाहर निकाला; 9 अभी भी लापता

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल जल प्रलय: NDRF ने 2 बच्चों समेत कुल 5 लोगों को जिंदा बाहर निकाला; 9 अभी भी लापता


कांगड़ाः
हिमाचल प्रदेश के लिए कल का दिन जल का दिन बन गया। बीते कल इंद्र देव ने सूबे के लोगों पर कुछ ऐसी कुदृष्टि डाली की काफी कुछ उजड़ गया, जो जाने दोबारा कभी वैसा बन भी पाएगा या नहीं। प्रदेश में भारी बारिश के चलते हुए भू-स्खलन और बाढ़ के कारण लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। वहीं, कुछ लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका जताई जा रही है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः दो सगे भाइयों की कार पर गिरा पत्थर- भूस्खलन की चपेट में आई गाड़ी

इसी कड़ी में कांगड़ा जिले के अंतर्गत आते विधानसभा क्षेत्र शाहपुर के रूलेहड़ में राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। ताकि मलबे में दबे लोगों को बाहर सुरक्षित निकाला जा सके। बतौर रिपोर्टस, यहां पर मलबे में दबे 15 लोगों में से एक की मौत हो चुकी है। हालांकि, अभी तक 5 लोगों को मलबे से जिंदा बाहर निकाला जा चुका है। जिनमें दो सात साल के बच्चे शामिल हैं। जिन्हें अर्धरात्रि को रेस्कयू टीम ने मलबे से जिंदा बाहर निकाला है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में मौसम का बड़ा अलर्ट: अभी 14 तक भारी बारिश, 18 जुलाई तक खराब रहेगा मौसम

वहीं, 9 लोग अभी भी मलबे की चपेट में हैं, जो कि लापता बताए जा रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार रूलेहड़ में सोमवार को यानी कल सुबह भूस्खलन होने के कारण तीन घर मलबे की चपेट में आकर दब गए थे। जबकि भूस्खलन के कारण कुल 10 घरों को भारी नुकसान पहुंचा है। इतना ही नहीं पंचायत भवन, पशुपालन विभाग व डिस्पेंसरी भी मलबे की चपेट में आए हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल का कल-जल ही जल: चार मरे-12 लापता, 10 घर बहे-सैकड़ों सड़कें बंद; गलती किसकी?

वहीं, प्राकृतिक आपदा के कहर पर जिलाधीश कांगड़ा डॉ निपुण जिंदल ने जानकारी देते हुए बताया कि वह खुद इस रेस्क्यू आपरेशन में टीम का हौसला बढ़ाते रहे हैं। उन्होंने बताया कि सुबह छह बजे रेस्क्यू टीम ने अपना काम फिर शुरू कर दिया है। पर्यटन स्‍थल धर्मशाला में भी सोमवार को भारी बारिश के कारण काफी नुकसान हुआ है। भागसू नाग में नाला डायवर्ट होने से कई वाहन बह गए हैं। जिनमें से अधिकतर वाहन यहां घूमने आए पर्यटकों के थे।

Post a Comment

0 Comments