हिमाचल: शराबी ने अधेड़ महिला संग 'कुकर्म' कर ले ली थी जान, अब मिली सजा

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: शराबी ने अधेड़ महिला संग 'कुकर्म' कर ले ली थी जान, अब मिली सजा

कांगड़ा: हिमाचल प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ लगातार बढ़ रहे आपराधिक मामलों के बीच सूबे में आरोपी पकडे भी जा रहे हैं और उन्हें अदालत कड़ी से कड़ी सजा भी सुना रही है लेकिन अपराधों का ग्राफ घटना के बजाय बढ़ता हुआ ही नजर आ रहा है।

ताजा मामला सूबे के कांगड़ा जिले से जुड़ा हुआ है। जहां अदालत ने शाहपुर के ठंबा गांव में अधेड़ महिला के साथ दुष्कर्म और उसकी हत्या करने के आरोपी पर दोष साबित होने पर अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। 

आरोपी ने किया था ऐसा अपराध की पढ़कर शर्म आ जाए:

पुलिस थाना शाहपुर के अंतर्गत ठंबा गांव के जंगल में 14 मार्च 2018 को एक अधेड़ महिला का शव बरामद हुआ था। पुलिस थाने में मृतक महिला के बेटे ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि:

घटना के दिन दोपहर बाद उसकी मां जंगल से झाड़ू बनाने के लिए खजूर की पत्तियां लाने गई थी। उसने बताया कि देर शाम तक जब वह जंगल से वापस नहीं आई तो वह उनकी तलाश में जंगल में गया था। 

जंगल में बेटे को मिला मां का शव:

देर रात को जब वह जंगल में अपनी मां की तलाश कर रहा था तो श्मशानघाट के समीप उसकी मां का शव बरामद हुआ तथा उसका सिर खून से पूरी तरह से लथपथ था। 

इस पर पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए जांच को आरंभ किया। जांच के दौरान वहां पर डेरा लगाने वाले गडरिये सहित एक अन्य युवक को भी हिरासत में लिया गया। इस पर पता चला कि आरोपी कृष्ण सिंह घटना के दिन गडरिये के डेरे में आया था और वहां पर शराब पी।

इसके बाद आरोपी के ही गांव का एक अन्य युवक वहां पर पहुंचा और उसके साथ वह अपने घर को चला गया। लेकिन, बीच रास्ते में उसने महिला को देखा और दूसरे युवक को घर जाने के लिए कहा।

पहले किया दुष्कर्म फिर मर्डर:

इस दौरान आरोपी कृष्ण ने महिला के साथ दुष्कर्म जैसा घिनौना अपराध किया और उसके विरोध करने पर पत्थर से उसके सिर पर वार कर दिया, जिससे महिला की मौत हो गई। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: खड्ड में डूब गया शख्स हुआ लापता, शुरू किया गया सर्च ऑपरेशन

इस वारदात के बाद कृष्ण सिंह मौके से फरार हो गया तथा 16 मार्च, 2018 को पुलिस ने उसको भटेच्छ के जंगल से गिरफ्तार किया। पुलिस जांच के बाद न्यायालय में चालान पेश किया गया। इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से 23 गवाह पेश किए गए, जिसके आधार पर कोर्ट ने दोषी को आजीवन कारावास और 60 हजार रूपए जुर्माने की सजा सुनाई है।

Post a Comment

0 Comments