हिमाचल: माता-पिता का दुखड़ा- 'पुलिस कार्रवाई करती तो मेरे बेटे को नहीं उठाना पड़ता यह कदम'

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: माता-पिता का दुखड़ा- 'पुलिस कार्रवाई करती तो मेरे बेटे को नहीं उठाना पड़ता यह कदम'


कांगड़ाः
हिमाचल प्रदेश में आत्महत्या के मामले कहीं से भी थमते नजर नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला प्रदेश के कांगड़ा जिले के जवाली उपमंडल से सामने आया। जहां युवक ने मानसिक व शारीरिक प्रताड़ता से परेशान होकर आत्महत्या जैसा संगीन कदम उठा लिया था। इस मामले पर घरवालों ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि अगर पुलिस समय रहते कदम उठाती तो उनका बेटा ऐसा कभी नहीं करता।

यह भी पढ़ें: हिमाचल से दो बुरी ख़बरें: चंद्रताल झील में डूब गया हिमाचल युवक, काजा में पर्यटक का निधन

मृतक युवक की पहचान विकी पुत्र ओमराज निवासी सपेल के रूप में हुई है। मिली जानकारी के मुताबिक, करीब 13 दिन पहले विकी का पड़ोस के ही एक लड़के के साथ झगड़ा हो गया था। जिसके बाद उन्होंने उसे लाठियों से बुरी तरह पीटा था। जिसकी शिकायत बेटे ने अपने माता-पिता सहित नगरोटा सूरियां में दर्ज करवाई थी। 

वहीं, इस मामले पर मां ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर उन्हें कहा कि वे उन्हें जब फोन करेंगे तब उनको पुलिस थाना आना होगा। मां का आरोप है कि पुलिस थाना से कोई फोन ही नहीं आया। इस दौरान आरोपी युवक उसे प्रताड़ित करते रहे। जिसे उनका बेटा सहन नहीं कर पाया और उसने ऐसा संगीन कदम उठा लिया।

यह भी पढ़ें: हिमाचली महिला का PM को पत्र- हमें ₹87 रोज की तनख्वाह मिलती, इतने में रिफाइंड नहीं आता

वहीं, इस मामले की पुष्टि करते हुए जवाली उपमंडल के डीएसपी ने बताया कि एक युवक की आत्महत्या का मामला सामने आया है। फिलहाल युवक के शव को पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी। यदि अगर युवक की मौत के पीछे यदि कोई ऐसी बात होगी तो पुलिस अवश्य ही मामले की जांच करेगी।

Post a Comment

0 Comments