छठे वेतन आयोग के खिलाफ हिमाचल-पंजाब के कर्मचारियों ने बनाया सांझा मोर्चा: साथ लड़ेंगे!

Ticker

6/recent/ticker-posts

छठे वेतन आयोग के खिलाफ हिमाचल-पंजाब के कर्मचारियों ने बनाया सांझा मोर्चा: साथ लड़ेंगे!


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में लंबे समय से छठे वेतन आयोग को लागू करवाने की लड़ाई लड़ रहे कर्मचारी अब पंजाब में लागू हुए नए नवेले वेतन आयोग को सूबे में लागू होने पर ऐतराज जता रहे हैं। वहीं, अब खबर यह आ रही है कि इसी को लेकर अब पंजाब और हिमाचल के कर्मचारी संगठन एकजुट हो गए हैं। 

यह भी पढ़ें: किन्नौर भूस्खलन: 150 पर्यटक फंसे- तीन पंचायतों में बुजली गुल, CM बोले- जारी है सेना का रेस्क्यू

शुक्रवार को जहां हिमाचल के कर्मचारी पंजाब में कर्मचारियों द्वारा अपनी मांगों के समर्थन किए जा रहे संघर्ष को अपना समर्थन दिया था। वहीं अब पंजाब का कर्मचारी संगठन शिमला में यहां के कर्मचारी पदाधिकारियों से मिला और अपना समर्थन दिया। छठे वेतन आयोग को लेकर हिमाचल और पंजाब के कर्मचारी संगठन शिमला में 29 जुलाई को एक बैठक करेंगे, जिसमें आगामी रणनीति तैयार की जाएगी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: ABVP ने मनाया कारगिल दिवस; सेना और पुलिस के जवान हुए सम्मानित

बता दें कि सोमवार को शिमला में कर्मचारी संगठनों ने मिलकर एक बैठक की, जिसमें कहा गया कि कर्मचारियों को छठे वेतन आयोग का फायदा नहीं बल्कि नुकसान है। इसके लागू होने से एक कर्मचारी के वेतन में 300 से लेकर 4 हजार तक का नुकसान होगा। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: बच्चों के साथ समोसा खाने गए थे, अंदर से निकली मरी हुई छिपकली

कर्मचारी संगठन का कहना है कि प्रदेश सरकार ने बड़ी ही चालाकी से छठे वेतन आयोग के नियमों और प्रावधानों में बदलाव कर कर्मचारियों के वेतन भत्तों को ही बदल कर रख दिया है। जिससे कर्मचारियों को फायदे की जगह नुकसान की आशंका है। 

इसी के चलते पंजाब और हिमाचल के कर्मचारी संगठन एकजुट हुए हैं और इस लड़ाई को मिलकर लड़ा जाएगा। 29 जुलाई को शिमला में इसी विषय पर हिमाचल और पंजाब के कर्मचारी संगठन मिलकर आगामी रणनीति तैयार करेंगे।

Post a Comment

0 Comments