कितना सच-कितना झूठ-यहां समझें: बहू ने अनिल पर लगाए आरोप, आश्रय बोले- अकाउंट हैक हुआ है

Ticker

6/recent/ticker-posts

कितना सच-कितना झूठ-यहां समझें: बहू ने अनिल पर लगाए आरोप, आश्रय बोले- अकाउंट हैक हुआ है


मंडी।
हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले से बीती रात एक बड़ी ही हैरान करने वाली खबर सामने आती है, जिसमें इस बात का दावा किया जाता है कि मंडी के सियासत में एक बड़ा ओहदा रखने वाले पंडित सुखराम शर्मा के परिवार की बहू ने अपने ससुर और बीजेपी के कथित बागी विधायक अनिल शर्मा के खिलाफ बड़े आरोप लगाए हैं। 

वहीं, इस खबर के साथ कांग्रेस नेता और कांग्रेस के प्रदेश महासचिव आश्रय शर्मा की पत्नी राधिका गंभीर शर्मा के फेसबुक पेज से किया गया एक सोशल मीडिया पोस्ट भी शेयर किया जाता है, जिसमें वह अपने ससुर के ऊपर बड़े ही गंभीर आरोप लगाती दिखती हैं। 

वहीं, इस खबर के ब्रेक होने के थोड़ी ही देर बाद राधिका गंभीर शर्मा के सोशल मीडिया पेज से वह पोस्ट डिलीट हो जाता है और उनके पति आश्रय शर्मा अपने अकाउंट से एक पोस्ट करते हैं। जिसमें आश्रय बताते हैं कि मेरी पत्नी का फेसबुक अकाउंट हैक हो गया है। 

उस अकाउंट से किसी ने हमारे पूरे परिवार को बदनाम करने की साजिश रची है। मेरा अनुरोध है कि आप उस अकाउंट से डाली पोस्ट को गंभीरता से न लें। हमारा परिवार एकजुट है और ऐसी कोई भी बात नहीं है जो उस पोस्ट के माध्यम से कही गई है। अब इस मामले पर आश्रय शर्मा का यह बयान सामने आने के बाद जनता कन्फ्यूज है कि आखिर किस बात को सच माना जाए। 

कंफ्यूजन और शंका की सबसे बड़ी वजह हैं कि:

  • अकाउंट हैक हुआ था तो पोस्ट डिलीट कैसे हुआ?
  • आखिर कथित हैकर की अंतरात्मा एक घंटे में ही क्यों और कैसे जाग गई?
  • हैकर के पास अनिल शर्मा के रीजेंट पाल्म्स होटल के सभी जानकारी वित्तीय लेन-देन, बैंक खाता नंबर, कब किसने कितना पैसा जमा किया समेत सभी जानकारी कैसे पहुंची? 
  • रीजेंट पाल्म्स होटल के लेटर पैड और अनिल शर्मा के जाली दस्तखत का उपयोग हैकर ने किया। जो दंडनीय अपराध है। शर्मा परिवार ने पुलिस में इसकी शिकायत क्यों नहीं की है।
  • किसी पेज के जरिए केवल उस शख्स को ही उस पर पोस्ट करने का अधिकार होता है। जिसे उस पेज में कोई भी पोस्ट करने का रोल दिया गया हो। वहीं, आमतौर पर लोग अपने पेज में किसी को भी रोल उस वक्त ही देते हैं, जब वह उनका विश्वासपात्र हो। ऐसे में यह बात पूरी तरह से स्पष्ट है कि या तो आश्रय शर्मा और उनकी पत्नी के साथ विश्वासघात हुआ है या फिर आश्रय शर्मा झूठ..

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार का फैसला: सचिवालय के साथ-साथ इन विभागों में होगी 111 पदों पर भर्ती, पढ़ें डीटेल


जनता इस बात पर भी ध्यान दिए हुए बैठी है कि अगर राधिका गंभीर शर्मा का फेसबुक पेज हैक हो गया था तो फिर इतनी जल्दी उसे रिकवर कैसे कर लिया गया और अगर रिकवरी हो भी गई तो इस बात का स्पष्टीकरण राधिका गंभीर शर्मा के पेज पर ना पोस्ट कर आश्रय शर्मा के पेज से क्यों पोस्ट किया गया। वहीं, ध्यान देने वाली बात यह है कि फेसबुक की तरफ से इस बात का दावा भी किया जाता है कि कोई भी किसी के फेसबुक अकाउंट को हैक नहीं कर सकता है। 

इस पूरे मामले में राजनीति का खेल तो नहीं ? 

दरअसल, लोगों के मन में इस स्पष्टीकरण को लेकर इस वजह से शंका बढ़ गई है। क्योंकि एक तो मंडी लोकसभा सीट पर जल्द ही चुनाव होने हैं और अगर इस दौरान टिकट की आस लगे बैठे आश्रय शर्मा और उनके परिवार के लोगों पर इस तरह के आरोप लगते हैं, तो यह शर्मा परिवार की साख पर लगे किसी भी बट्टे से कम नहीं होगा। 

यहां पढ़ें- राधिका ने अनिल शर्मा पर क्या आरोप लगाए थे 

राधिका अपने फेसबुक अकाउंट से किए गए इस पोस्ट में लिखती हैं कि आज मेरे ससुर ने मुझे हमारे होटल में सैलून चलाने के लिए नोटिस भेजा है। दहेज प्रताड़ना के 6 साल बाद जब मेरे परिवार ने उनसे और पैसे देने से मना कर दिया तो उन्होंने मुझे यह नोटिस भेजा है। आज मेरे ससुराल वालों से मेरे सारे संबंध टूट गए हैं। यह सब सिर्फ इसलिए कि उन्हें अपने मंत्रालय से इस्तीफा देना पड़ा था। पैसे और सत्ता की भूख व सब जानते हैं। 9 महीने की गर्भवती होने पर उन्होंने मुझे घर से निकाल दिया। 


यह भी पढ़ें: हिमाचल: हाल ही में विदेश से आया था पति- फंदे से झूल गई पत्नी, पीछे छोड़ गई दो मासूम बच्चे

एक शख्स जो 93 साल की उम्र के अपने ही पिता को घर से निकाल सकते हैं और अपने ही बेटे के साथ ऐसा कर सकते हैं, मैं उससे क्या उम्मीद कर सकती हूं। लेकिन अगर मेरा परिवार यानी सदर के लोग मेरे साथ खड़े हैं तो मुझे किसी बात का डर नहीं है। हम पीछे हटने वाले नहीं हैं। बता दें कि अनिल शर्मा का मंडी शहर में द रीजेंट पाल्म्स होटल है। अनिल शर्मा व उनका बड़ा बेटा कांग्रेस महासचिव होटल संचालित करने वाली कंपनी के निदेशक हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में 2 अगस्त से खुलेंगे स्कूल: जानें क्या होंगे छात्रों के लिए नियम- SOP आउट!

अपनी बहू राधिका गंभीर को भेजी नोटिस में अनिल शर्मा का कहना है कि होटल में सैलून चलाने के लिए राधिका ने करार किया था। सैलून तैयार करने के लिए आश्रय शर्मा ने 24 लाख खर्च किए थे। यह पैसा उन्होंने आश्रय शर्मा को अपने यूको बैंक के खाते से ट्रांसफर किया था। 65000 रुपये मासिक किराये के साथ बिजली पानी का बिल अदा करने की बात हुई थी। 

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार ने स्कूल तो खोला ही कोचिंग खोलने को भी दी मंजूरी, यहां पढ़ें डिटेल

होटल की कैश बुक की जांच करने पर किराये का एक पैसा जमा नहीं हुआ। सैलून का करार सितंबर 2018 में हुआ था। 15 जुलाई को निदेशक मंडल की बैठक में किराये को लेकर चर्चा हुई और राधिका को नोटिस देने का निर्णय लिया गया था। 33 माह का किराया जो 21.45 लाख रुपये बनता है उसे जमा करवाने को कहा गया है।

Post a Comment

0 Comments