कांगड़ा DC ने बताया ताजा आंकड़ा: बोह में 5 लोगों को बचाया, 8 की गई जान, 2 की तलाश जारी

Ticker

6/recent/ticker-posts

कांगड़ा DC ने बताया ताजा आंकड़ा: बोह में 5 लोगों को बचाया, 8 की गई जान, 2 की तलाश जारी


कांगड़ा।
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले आई आपदा ने बहुत कुछ बदल दिया है। इस जल प्रलय का सबसे बड़ा कहर टूटा है जिले के शाहपुर विधानसभा की रूलेहड़ पंचायत के बोह गांव पर, जहां पर सबसे अधिक लोगों ने जान गंवाई है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: जो काम करने में 'मर्दों' के छूट जाएं पसीने, महिला आरक्षी मनीषा ने कर दिखाया; हो रही तारीफ

जिले में भू-स्खलन तथा भारी बारिश के कारण विभिन्न जगहों पर फंसे 141 लोगों को सकुशल सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने में कामयाबी हासिल की गई है जबकि 11 के करीब लोगों की मौत हुई है और बोह क्षेत्र में लापता 2 लोगों व चकवन में एक लापता व्यक्ति को ढूंढने के लिए सर्च अभियान जारी है। 

यह भी पढ़ें: मेरे शरीर में भी वही खून जो राजा साहब के अंदर था; विक्रमादित्य का अर्की की जनता से संवाद

इस संबंध में जानकारी देते हुए डीसी कांगड़ा निपुण जिंदल ने बताया कि अब तक शाहपुर उपमंडल के बोह क्षेत्र में आई आपदा में 5 लोगों को सकुशल निकाला गया है जबकि 8 की मौत हो चुकी है और अभी भी 2 लोग लापता हैं, जिन्हें ढूंढने के लिए एनडीआरएफ, होमगार्ड्स व पुलिस की टीम ने सर्च अभियान चलाया हुआ है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल की इनोवा कार भाखड़ा नहर में गिरी, दो सवार बह गए- गोताखोर मौके पर बुलाए गए

वहीं, बुधवार को ममता के पिता भीम सिंह का भी शव लगभग 50 घंटे बाद बरामद किया गया है। अभी भी सुभाष चंद (65), नीरज(18) और शबनम (16) लापता हैं। आपदा में घायल आरती, सोंफो देवी, विजय, तमन्ना, रचना, अवंतिका अभी तक अस्पताल में उपचाराधीन हैं।  

अब तक बरामद किए शवों की पहचान

मस्तो देवी (40), शकुंतला देवी (60), ममता (21), कार्तिक (16), शिव प्रसाद (30),  कांचना देवी (45) व भीमसेन (45)।

Post a Comment

0 Comments