किन्नौर भूस्खलन: वाहन से छिटककर बाहर गिरे दो लोग, चट्टान के नीचे छिपकर बची जान

Ticker

6/recent/ticker-posts

किन्नौर भूस्खलन: वाहन से छिटककर बाहर गिरे दो लोग, चट्टान के नीचे छिपकर बची जान



किन्नौर: हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले अंतर्गत बटसेरी में रविवार दोपहर हुए भूस्खलन में 9 लोगों की जान गई थी। वहीं, इसमें दो लोगों की जान बची है। जिनकी जान बची है वह भगवान के आशीर्वाद से फिल्मी अंदाज में बची है।

वाहन हवा में दो पर्यटक पत्थर के पीछे:

दरअसल, पहाड़ी से गिरी चट्टानें जब गाड़ी से टकराई तो दो पर्यटक छिटककर बाहर गिर गए। वाहन हवा में जा उड़ा और करीब 600 मीटर गहरी खाई में जा गिरा। वहीं, ये दोनों पर्यटक एक पत्थर के पीछे जाकर गिरे। जिस कारण दोनों बेहोश हो गए। हालांकि, पत्थर के पीछे होने की वजह से ये सुरक्षित हो गए।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: कूलर में पानी भर रहे एक दोस्त को लगा करंट, दूसरा बचाने गया- दोनों की गई जान

जिंदा बचे दोनों पर्यटक की पहचान शिरील ओबरॉय (39 वर्ष) दिल्ली और मोहाली के नवीन भारद्वाज (37 वर्ष) के तौर पर हुई है। रेस्क्यू के दौरान दोनों युवक को पत्थर के पीछे से निकाला गया तो दोनों की सांसे चल रही थी। आनन-फानन में इन्हें अस्पताल जे जाया गया। जहां डॉक्टरों ने दोनों को खतरे से बाहर बताया है। मामूली चोटें हैं, डर की वजह से बेहोश हो गए थे।

ट्रेवल एजेंसी से आए थे अलग-अलग राज्य के लोग:

शिरील और नवीन ने बताया कि बीते गुरुवार को उन्होंने एक ट्रेवल एजेंसी के साथ हिमाचल की ट्रिप बुक की थी। उनके साथ कुल 11 लोग थे। सभी अलग-अलग राज्यों से थे और एकदुसरे से सफ़र के दौरान ही परिचय हुआ था।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में नौकरियां: ड्राइवर, इलेक्ट्रीशियन-मशीन ऑपरेटर जैसे पद हैं खाली, पढ़ें डीटेल

हिमाचल में उनका करीब एक सप्ताह का टूर था। बीते वीरवार को सभी दिल्ली से चंडीगढ़ होते हुए नारकंडा पहुंचे। यहां विश्राम करने के बाद शनिवार को उनका दल छितकुल पहुंचा और रविवार को कल्पा के लिए रवाना हुआ।

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने किन्नौर के भूस्खलन पर जताया दुःख: परिजनों को 2 लाख की सहायता का किया ऐलान

छितकुल से कल्पा और यहां से नाको काजा होते हुए मनाली पहुंचने का कार्यक्रम था, लेकिन तकदीर को कुछ और ही मंजूर था। दिल्ली से हिमाचल घूमने निकले पर्यटकों को क्या मालूम था कि किन्नौर जिले में मौत उनका इंतजार कर रही है। विभिन्न राज्यों से एकत्रित हुए अंजान लोगों की दोस्ती उन्हें मौत के मुंह तक खींच लाई। 

Post a Comment

0 Comments