हिमाचल: जो काम करने में 'मर्दों' के छूट जाएं पसीने, महिला आरक्षी मनीषा ने कर दिखाया; हो रही तारीफ

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: जो काम करने में 'मर्दों' के छूट जाएं पसीने, महिला आरक्षी मनीषा ने कर दिखाया; हो रही तारीफ

लाहुल-स्पीति: हिमाचल पुलिस में कार्यरत महिला आरक्षी के कार्य की चर्चा पूरे प्रदेश में हो रही है। लाहुल के उदयपुर उपमंडल स्थित शिवलिंग गांव के समीप एक मारुति वैन अनियंत्रित होकर करीब 400 मीटर नीचे ढांक से गिरकर चिनाब नदी में समा गई थी। जिसमें एक हेड मास्टर की मौत हो गई थी।

रेस्क्यू करने से डर रहे थे सभी:

शव को रेस्क्यू करने में सभी डर रहे थे। इसी दौरान पुलिस विभाग उदयपुर थाना में आरक्षी पद पर तैनात मनीषा हिम्मत दिखाकर अपनी टीम के साथ ढांक में उतर गई और शव को रेस्क्यू किया। टीम में मनीषा के साथ हेड कांस्टेबल प्रवीण ने भी रेस्क्यू करने में सहयोग दिया। 

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार का बड़ा फैसला: 27 HPS अधिकारियों के कार्यभार बदले, देखें पूरी लिस्ट

मनीषा के इस हौसले व साहस से भरे कार्य की चर्चा पूरे हिमाचल में हो रही है। लाहौल के एसपी मानव शर्मा ने भी इस अदम्य साहस की प्रशंसा की है।  उन्होंने कहा कि जिस जगह से शव को बरामद किया गया है वहां जाने से पुलिसकर्मी के साथ-साथ स्थानीय लोग भी डर रहे थे, परंतु मनीषा ने हिम्मत दिखाकर शव को रेस्क्यू किया।

यह भी पढ़ें: ये वीडियो तो याद ही होगा: पर ये हिमाचल का है ही नहीं- सामने आ गई सच्चाई

बता दें कि मनीषा बॉक्सिंग प्रतियोगिताओं में भी राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश का नाम रोशन कर चुकी है। वहीं, लोग हिमाचल  पुलिस द्वारा लेडी कांस्टेबल मनीषा को डीजीपी डिस्क अवार्ड से सम्मानित करने की मांग कर रहे हैं।


Post a Comment

0 Comments