हिमाचल: शादी का झांसा दे किशोरी को भगाकर लूटी थी इज्जत, कोर्ट ने सुनाई सजा

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: शादी का झांसा दे किशोरी को भगाकर लूटी थी इज्जत, कोर्ट ने सुनाई सजा


सिरमौर।
हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में एक नाबालिग लड़की को भागकर उसके साथ दुष्कर्म करने के आरोपी दोषी पिंकू उर्फ बंटी को अदालत ने सात वर्ष का कठोर कारावास और 20 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। स्पेशल जज सिरमौर देविंद्र कुमार की अदालत में सुनाई गई सजा में स्पष्ट किया गया है कि र्माना अदा न करने की सूरत में दोषी को छह माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। 

यहां पढ़ें क्या था पूरा मामला 

अदालत से इस मामले के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार रमेश ठाकुर निवासी गांव मताहन ने 8 फरवरी, 2018 को थाना संगड़ाह में शिकायत दर्ज करवाई कि उसकी बहन (पीडि़ता) 6 फरवरी को घर मताहन से दोगरी (आइछा) के लिए गई, जो वहां नहीं पहुंची। उसने बहन की तलाश की तो लोगों से पता चला कि उसकी बहन को 3 बजे शाम को अम्बोटा में बंटी के साथ देखा गया। 

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार का तोहफा: जनजातीय क्षेत्र में सेवाएं दे रहे कर्मियों को मिलेगा लाभ, जानें

इसके बाद जब बंटी के मोबाइल नंबर पर फोन किया तो उसने बताया कि तेरी बहन मेरे रिश्तेदार विक्की के साथ चौपाल चली गयी है। रमेश ने बंटी पर ही शक जाहिर कि वह शादी का झांसा देकर बहला-फुसलाकर उस की बहन को भगा कर ले गया है। 7 फरवरी को बंटी ने अपने मोबाइल नंबर से कॉन्फ्रेंस से वादी रमेश से बात करवाई। इस दौरान पीडि़ता ने अपने भाई को बताया कि उसे पता नहीं वह कहां हैं। 

यह भी पढ़ें: विदेश जाने से पहले हिमाचल घूमना चाहती थी प्रतीक्षा, मां संग वीडियो कॉल पर थी, तभी आई मौत!

मामला दर्ज होने के बाद संगड़ाह पुलिस ने आगामी कार्रवाई शुरू की। इस दौरान 9 फरवरी को पीडि़ता और बंटी टिम्बी के साथ संपर्क मार्ग गांव दुबोड़ की ओर सडक़ पर पैदल जाते मिले। पीडि़ता की उसके पिता राजू ने उसकी शिनाख्त की। तफ्तीश के दौरान पीडि़ता ने यह बताया कि आरोपी बंटी उर्फ पिंकू ही उसे शादी का झांसा देकर गांव मताहन में 6 फरवरी, 2018 को भगा कर ले गया था। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: जंगली मशरूम खाकर भूख शांत करना पड़ा महंगा, एक ही परिवार के 4 लोग पहुंचे अस्पताल

इस दौरान बंटी ने अपनी रिश्तेदारी पंझोड़ धार में उसके साथ दुष्कर्म किया। जबकि दोषी पहले से ही शादीशुदा था और उस की एक 9 माह की बेटी भी है। वहीं जांच में पाया गया कि नाबालिग की उम्र 16 वर्ष 6 महीने है। मुकद्दमा में कुल 14 गवाह पेश किए गए।

Post a Comment

0 Comments