हिमाचल: जंगल में बकरी चराने गई 9वीं की छात्रा की लूटी थी इज्जत- अब मिली सजा

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: जंगल में बकरी चराने गई 9वीं की छात्रा की लूटी थी इज्जत- अब मिली सजा


कांगड़ाः
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में जून 2017 में एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म का मामला पुलिस थाना जवाली में दर्ज हुआ था। जिसके बाद आरोपित के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। वहीं, इस मामले में आ रही ताजा अपडेट के अनुसार स्पेशल जज फास्ट ट्रैक कोर्ट पोक्सो कृष्ण कुमार ने आरोपित सख्स को सात साल का कठोर कारावास की सजा सुनाई है।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः तस्करों ने मार दी बाइक को टक्कर- फिर पुलिस ने की जांच और 18 लाख के माल संग धरा

इसके साथ ही आरोपित को 20 हजार रूपए का जुर्माना भी लगाया गया है। अगर आरोपित जुर्मान नहीं दे पाता है तो उसे छः महिने तक अतिरिक्त साधारण कारावास की सजा काटनी होगी। इस मामले की पैरवी करने वाले स्पेशल सरकारी वकील श्रीराम देव चौधरी ने कोर्ट में 22 गवाह पेश किए। जिसके आधार पर न्यायालय ने गुरमीत को दोषी करार देते हुए सजा सुनाई है। 

यहां पढ़ें क्या था पूरा मामला 

वहीं, इस मामले पर श्रीराम देव चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि 19 जून 2017 को जिले के गांव जवाली में अधिक वर्षा होने के कारण नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिग स्कूल नहीं गई थी। इस दिन वह अपनी बहन के साथ जंगल में पशु चराने गई हुई थी। इस दौरान जंगल में गुरमीत उर्फ गोल्डी भी बकरियां चरा रहा था। नाबालिग ने आरोप लगाया था कि गुरमीत ने उसने साथ दुष्कर्म किया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: पंखे से लगाया फंदा और उसपर झूल गया दवा कंपनी के कामगार, जांच शुरू

जिसकी शिकायत पीड़िता ने जवाली पुलिस थाना में दी। पुलिस ने मिली शिकायत के आधार पर कार्रवाई करते हुए आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। वहीं, मामले में जांच करने के बाद पुलिस ने चालान कोर्ट में पेश किया। जहां दोषी करार होने के बाद अब आरोपित शख्स को सजा सुनाई गई है।

Post a Comment

0 Comments