हिमाचल में ऐसा हाल: खूंटे से बांध जंगल में छोड़े गोवंश, भूख-प्यास से तड़पे और टूटी सांसें

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल में ऐसा हाल: खूंटे से बांध जंगल में छोड़े गोवंश, भूख-प्यास से तड़पे और टूटी सांसें


हमीरपुरः
हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले से एक बेहद ही शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। जहां जिले के सुजानपुर उपमंडल की अतंर्गत आती ग्राम पंचायत रगंड़ में एक गौशाला के मालिक ने पहले तो गोवंशों को बुरी तरह से पीटा उसके बाद उन्हें जगंल में बांध कर मरने के लिए छोड़ दिया। जहां कई दिन भूखे प्यासे बंधे रहने के कारण 5 से 6 गोवंश की तड़प-तड़प कर मौत हो गई। इस बात की जानकारी स्थानीय लोगों ने पुलिस को दी।

यह भी पढ़ें: 'वीरभद्र मेरी तारीफ करते थे तो कांग्रेसी नेताओं को तकलीफ होती थी'


मिली शिकायत के आधार पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने गौशाला के मालिक त्रिलोकचंद के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इस बीच पुलिस जांच में ये भी सामने आया है कि उक्त शख्स द्वारा चलाई जाने वाली गौशाला कहीं भी पंजिकृत नहीं है और ऐसे ही कई सालों से इसका संचालन हो रहा था। लेकिन किसी को क्या पता था कि गौशाला को चलाने वाला ही एक दिन इनकी मौत का कारण बन जाएगा। गोवंश के साथ घटित हुई इस वारदात के बाद इलाके के निवासियों में रोष व्याप्त है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल के इन 10 जिलों में होगी बहुत भारी वर्षा: 3 दिनों के लिए है अलर्ट, पढ़ें डीटेल

अपने इलाके में घटित हुई इस वारदात पर ग्राम पंचायत के प्रधान संजीव ने जानकारी देते हुए बताया कि जब वे मौके पर पहुंचे तो उन्होंने पाया कि बैलों को रस्सी से बांध कर जंगल में छोड़ दिया गया है। रस्सी के साथ बंधे होने के कारण बैल जंगल में तड़प-तड़प कर मर गए। इस घटना में 5 से 6 बैल मर गए हैं और दो से तीन बैलों को उन्होंने खुद जाकर रस्सी से छुड़वाया है। उन्होंने बताया कि ऐसी घटना इलाके में पहली बार हुई है और यह मानवता को शर्मसार करने वाली घटना है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: टुल्लू पंप का स्विच ऑन करने पर लगा करंट, चली गई 16 वर्षीय किशोर की जान

वहीं इस मामले की पुष्टि करते हुए सुजानपुर थाना के एएसआई मदनलाल ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए गौशाला के मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि गौशाला रजिस्टर नहीं है। इसके खिलाफ भी अलग से मामला दर्ज किया गया है और अब आगे की कार्रवाई जारी है।

Post a Comment

0 Comments