हिमाचल में एक और रिश्वतखोर सरकारी मुलाजिम अरेस्ट, 10 हजार की घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल में एक और रिश्वतखोर सरकारी मुलाजिम अरेस्ट, 10 हजार की घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में बीते कुछ वक्त से सरकारी मुलाजिमों द्वारा घूस लिए जाने और लेते वक्त रंगे हाथों पकडे जाने के मामलों में इजाफा देखने को मिला है। इसी कड़ी में ताजा मामला सूबे की राजधानी शिमला से सामने आया है। जहाना पर हिमाचल प्रदेश राज्य सतर्कता और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने उपमंडल मृदा संरक्षण कार्यालय शिमला के सर्वेक्षक को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते घनाहट्टी में रंगे हाथों अरेस्ट किया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल के युवाओं को हुआ क्या है: किलो भर चरस और स्मैक के साथ 3 युवक अरेस्ट, उम्र 24 से कम

बताया गया कि आरोपी सरकारी मुलाजिम 10 हजार घूस लेने के बाद और रकम की भी डिमांड कर रहा था। मिली जानकारी के मुताबिक़ सर्वेक्षक लायक राम ने कृषि विभाग की ओर से निर्मित सिंचाई टैंक के मूल्यांकन/सर्वेक्षण के लिए शिकायतकर्ता से 10 हजार रुपये की कमीशन मांगी और उसे स्वीकार भी किया था। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: मां ने 14 वर्षीय लाडले को नई कार में बैठने से किया मना, नाराज होकर दुपट्टे से झूल गया

बताया गया कि सिंचाई टैंक के निर्माण के लिए कुल राशि सात लाख रुपये की राशि निर्धारित थी, जिसमें से 328122 रुपये शिकायतकर्ता को उक्त टैंक के निर्माण के लिए दिए गए थे और शेष राशि विभाग की ओर से उक्त निर्माण में खर्च की गई थी। इस मामले की शिकायत एक शख्स ने विजिलेंस को दी थी, इसके बाद विजिलेंस ने जाल बिछाया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः अनियंत्रित होकर नदी में समा गई थी स्कूल हेडमास्टर की कार, आज मिली देह

इस मामले के बारे में जानकारी देते हुए विजिलेंस के प्रवक्ता द्वारा बताया गया कि कृषि विभाग द्वारा निर्मित सिंचाई टैंक के मूल्यांकन/सर्वेक्षण को लेकर घूस (कमीशन) मांगी गई थी। आरोपी सर्वेक्षक के खिलाफ धारा 7 पीसी संशोधित अधिनियम के तहत पीएस एसवी एंड एसीबी, शिमला में मामला दर्ज किया गया है।

Post a Comment

0 Comments