दुखियारी मां ने रोका CM का काफिला: गाड़ी से उतर महिला के घर पहुंचे जयराम

Ticker

6/recent/ticker-posts

दुखियारी मां ने रोका CM का काफिला: गाड़ी से उतर महिला के घर पहुंचे जयराम


मंडी।
हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में एक दुखियारी मां ने CM जयराम ठाकुर का काफिला ही रोक दिया। यह मां अपने बेटे के इलाज के लिए CM से फरियाद करने यहां पहुंची थी। जैसे ही काफिला रूका, लाचार मां मुख्यमंत्री के पास गई और अपने बेटे की बीमारी की बात कहकर घर चलकर सारी स्थिति देखने की गुहार लगाई। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी समझ गए कि जब महिला बीच सड़क पर खड़ी होकर काफिला रोक रही है तो मामला कुछ गंभीर है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में नौकरियां: ड्राइवर, इलेक्ट्रीशियन-मशीन ऑपरेटर जैसे पद हैं खाली, पढ़ें डीटेल

सीएम जयराम ठाकुर ने भी मानवीय संवेदना का परिचय देते हुए अपना काफिला रोक कर महिला की फरियाद सुनी और उसकी मदद की। मुख्यमंत्री अपनी गाड़ी से उतरे और महिला के घर चल दिए। यहां महिला ने पिछले 21 वर्षों से बिस्तर पर पड़े अपने बेटे की स्थिति दिखाई और मदद की गुहार लगाई। मिली जानकारी के अनुसार द्रंग विधानसभा क्षेत्र में सीएम जयराम के दौरे के दौरान एक महिला अचानक से जयराम ठाकुर के काफिले के बीच आ गई व सीएम की गाड़ी को रोकने का प्रयास किया। 

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने किन्नौर के भूस्खलन पर जताया दुःख: परिजनों को 2 लाख की सहायता का किया ऐलान

ग्राम पंचायत टांडू के पाखरी गांव की लक्ष्मी देवी अपने बेटे के इलाज की फरियाद के लिए सीएम जयराम ठाकुर की गाड़ी के आगे खड़ी हो गई। सुरक्षा कर्मियों ने उसे हटाने का प्रयास किया, लेकिन इसी बीच बुजुर्ग महिला को सामने देख सीएम जयराम ठाकुर स्वयं गाड़ी से उतर आए और महिला से ऐसा करने का कारण पूछा। हाथ में अर्जी लिए बुजुर्ग लक्ष्मी देवी ने रोते हुए कहा कि उनका बेटा 22 साल से कोमा में है। परिवार की आर्थिक हालात खराब है। 

यह भी पढ़ें: जवानों से बोली बहन: 'मेरे भाई को तो ले आए, दुश्मनों के सिर काटकर क्यों नहीं लाए'

पति लालू राम का स्वर्गवास हो चुका है। बेटे का इलाज करवाने में वह असमर्थ है। हर महीने सूरजमणी के उपचार पर 15 से 20 हजार का खर्चा आ रहा है। सांस लेने की पाइप चंडीगढ़ से मंगवानी पड़ती है। पति की पेंशन से हर महीने 10-11 हजार मिल जाते हैं , लेकिन उससे गुजारा नहीं हो पा रहा है। इस संबंध में जानकारी देते हुए  महिला को एक लाख की आर्थिक मदद देने के साथ उसके बीमार बेटे को सहारा योजना में शामिल करने के आदेश डीसी को दे दिए गए हैं। 

Post a Comment

0 Comments