विधवा मां ने बताया- 5 बेटियों को पालना हुआ मुश्किल, भावुक हुए CM जयराम ने की मदद

Ticker

6/recent/ticker-posts

विधवा मां ने बताया- 5 बेटियों को पालना हुआ मुश्किल, भावुक हुए CM जयराम ने की मदद


मंडी।
हिमाचल प्रदेश के नेतागण इन दिनों अपनी इमेज को वाईट वॉश करने में जुटे हुए हैं। आखिरकार, चुनाव जो नजदीक आ गए हैं। इसी कड़ी में सूबे के सीएम जयराम ठाकुर भी बीते कुछ दिनों ग्राउंड लेवल पर काफी एक्टिव होते नजर आ रहे हैं। अब चाहे प्राकृतिक आपदाओं के बाद मौका-ए-वारदात का दौरा करना हो या किसी दुखियारी मां का दर्द सुनकर उसके घर तक मदद के लिए पहुंचना हो सीएम द्वारा इन दिनों समाजसेवा करने में कोई कसर बाकी नहीं रहने दी जा रही है। 

एचआरटीसी में दैनिक वेतनभोगी थे बच्चियों के पिता, मिली 2 लाख की मदद 

मामला मंडी जिले का है, जहां के करसोग हलके के खडून गांव की पांच बच्चियों और उनकी विधवा मां के लिए सीएम जयराम ठाकुर फरिश्ता बनकर सामने आए हैं। सीएम ने अपना करसोग प्रवास के दौरान पांचों बच्चियों के जीवन में रंग भर दिए हैं। बच्चियों की मां को अब उनकी पढ़ाई लिखाई की चिंता नहीं सताएगी। बतौर रिपोर्ट्स, बच्चियों व गरीब मां की व्यथा सुनने के बाद सीएम जयराम ठाकुर ने दो लाख रुपये देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें: थप्पड़ मामले पर HRTC ने लिया एक्शन; कंडक्टर को किया गया चार्जसीट

बता दें कि पांच बच्चियों के सिर से तीन साल पहले उनके पिता का साया उठ गया था। पिता घर में कमाई का एकमात्र साधन थे। वह एचआरटीसी में दैनिक वेतनभोगी थे। उनकी मासिक पगार से घर का खर्च चलता था। निधन के बाद रोजी रोटी का एकमात्र साधन भी छिन गया। मां सीमा देवी पर बच्चियों की परवरिश व पढ़ाई लिखाई का बोझ आ गया था। पैसे के अभाव में बच्चियों का पालन पोषण मां के लिए पहाड़ जैसी चुनौती बन गया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल जल प्रलय: बिजनस पार्टनर को तो बचा लिया पर खुद नहीं बचीं विनिता, आज ही लौटना था..

बता दें कि मेहनत मजदूरी कर सीमा देवी पांचों बच्चियों की पढ़ाई लिखाई करवा रही थी। बड़ी बेटी 18 साल की है, वह कालेज में पढ़ती है। सबसे छोटी बेटी तीन साल की है। तीन साल से सीमा प्रशासन से मदद की गुहार लगाती रही, लेकिन किसी ने उसकी फरियाद नहीं सुनी। 

यह भी पढ़ें: CM जयराम के आवास के पास हुआ लैंडस्लाइड: 4 भवनों को खतरा, रेस्‍क्‍यू किए गए 35 लोग

सीमा को सीएम जयराम ठाकुर के करसोग दौरे का पता चला तो वह गुरूवार को बच्चियों को लेकर उन्हें मिलने विश्राम गृह पहुंच गई। सीमा की व्यथा सुनने के बाद सीएम जयराम ठाकुर ने तुरंत दो लाख रुपये देकर पांचों बच्चियों की पढ़ाई लिखाई सुचारू रखने को कहा। सीएम की तरफ से मिली सहायता राशि से अब सीमा की पांचों बेटियां खूब पढ़ेंगी लिखेंगी।

Post a Comment

0 Comments