देवभूमि शर्मसार: तीन बेटियों से देह व्‍यापार करा रहे थे मां-बाप, दो भाई व चाचा भी थे शामिल

Ticker

6/recent/ticker-posts

देवभूमि शर्मसार: तीन बेटियों से देह व्‍यापार करा रहे थे मां-बाप, दो भाई व चाचा भी थे शामिल


सोलन/यमुनानगर
। हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले स्थित नालागढ़ से देवभूमि को शर्मसार करने वाला एक बेहद ही संगीन मामला सामने आया है। यहां पर रहने वाले एक दम्पति द्वारा पैसों के लालच के लिए अपनी बेटी से देह व्यापार कराया जाता था।

इस धंधे में युवती के दो भाई व उसका चाचा भी शामिल थे। मामला उस समय खुला, जब युवती की हालत बिगड़ गई। तब आरोपित युवती को उसकी बुआ के पास छोड़कर फरार हो गए। पीड़िता का फिलहाल निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

यह भी पढ़ें: HTRC की वॉल्वो बस से भिड़ा बेकाबू ट्रक: फोरलेन का डिवाइडर तोड़कर विपरीत दिशा में टकराया

वहीं मामले का पता लगते ही महिला थाना पुलिस ने तुरंत केस दर्ज किया। पुलिस को दी शिकायत के मुताबिक, 20 वर्षीय युवती अपने पिता, मां, चाचा, दो भाई के साथ हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ क्षेत्र में रहती थी। 

आरोप है कि माता पिता व उसके भाईयों ने उस पर देह व्यापार करने का दबाव बनाया। मना करने पर आरोपितों ने युवती को पीटा। यहां तक कहा कि उसकी दो बड़ी बहनें भी यही काम करती हैं। इससे रोजी रोटी चलती है। इसलिए उसे भी यही काम करना होगा। जबरन उससे देह व्यापार कराया गया।

तबियत खराब होने के बावजूद बनाया दबाव

कई बार युवती ने आरोपितों से कहा कि उसकी तबियत खराब है।इसके बावजूद आरोपित नहीं माने। हालत बिगड़ने पर उसे दवाई तक नहीं दिलवाई। जिससे उसकी हालत बिगड़ती गई। 

इसके बाद आरोपित माता पिता उसे शहर में झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले उसके बुआ व फूफा के पास छोड़कर फरार हो गए। यहां पर बुआ ने उसे इलाज के लिए निजी अस्पताल में दाखिल कराया। इसके बावजूद आरोपित माता पिता व उसके भाई फोन कर बुआ व फुफा को भी धमकी दे रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में प्लॉट लेने पर पड़ोसियों ने किया परेशान: सरकारी क्वार्टर में पंखे से झूल गया शख्स

यहां तक धमकी दी गई कि वह उसे जबरन उठाकर ले जाएंगे। मामले की जांच कर रही इंस्पेक्टर शीलावंती का कहना है कि युवती की शिकायत पर उसके माता पिता समेत पांच लोगों के खिलाफ जीरो एफआइआर दर्ज की गई है। घटना क्षेत्र हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ का है। इसलिए वहां की थाना पुलिस को ईमेल के माध्यम से जानकारी दी गई है। अब यह केस वहीं पर ट्रांसफर किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments