हिमाचल में 'मजार वाले बाबा' को भी मिल गई आजादी: प्रशासन ने उजाड़ दिया धार्मिक अतिक्रमण

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल में 'मजार वाले बाबा' को भी मिल गई आजादी: प्रशासन ने उजाड़ दिया धार्मिक अतिक्रमण


सिरमौर।
बीते कल हिमाचल प्रदेश समेत पूरे देश में स्वतंत्रता दिवस का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया गया और लोगों ने अपनी आजादी का लुत्फ़ उठाया। इसी कड़ी में बीते कल के ही दिन हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले की पुलिस ने तगड़ी कार्रवाई करते हुए नहान शहर के वार्ड नंबर 4 में नगर परिषद ने सरकारी भूमि पर विराजमान 'मजार वाले बाबा' को भी आजादी दे दी और धार्मिक अतिक्रमण को उजाड़ते हुए सबकुछ तहसनहस कर दिया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश के 19 लाख बीपीएल व एपीएल कार्ड धारकों को CM जयराम ने दी राहत, यहां पढ़ें

खास बात यह है कि मजार से हटाए गए बाबा की तस्वीरों व अन्य सामग्री को नगर परिषद विश्रामगृह के समीप मूल माड़ी में स्थापित किया गया है। शनिवार को बाकायदा बाबा का रोट भी चढ़ाया गया। ये कार्रवाई नगर परिषद ने अपने स्तर पर की है। आरोप था कि अतिक्रमणकारी ने जानबूझ कर धार्मिक आस्था को ढाल बना सरकारी भूमि पर कब्जा कर लिया था। एसडीएम ने शिकायत मिलने के बाद तुरंत ही नगर परिषद के कनिष्ठ अभियंता को अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में UP पुलिस की गुंडागर्दी: जबरन उठा ले गए इंजीनयर की पत्नी- देखती रही पुलिस

धार्मिक आस्था आहत न हो, इस कारण बाबा की सामग्री को अन्य स्थान पर शिफ्ट कर दिया गया। हालांकि, पुख्ता जानकारी नहीं है, लेकिन बताया गया कि 15 से 30 मीटर भूमि पर अवैध कब्जे की नीयत से मजार का निर्माण कर दिया गया था। उल्लेखनीय है कि नेशनल हाईव के किनारे भी मजारों की संख्या काफी है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: आपदा से घिरे इस जिले में महसूस किए गए भूकंप के झटके, पढ़ें पूरी डिटेल

बताया ये भी जा रहा है कि अतिक्रमण हटाने के दौरान यहां मौजूद व्यक्ति ने विरोध भी किया, लेकिन नगर परिषद की टीम ने एक नहीं सुनी। मौके पर नगर परिषद के अधिकारी भी मौजूद रहे। उधर, नगर परिषद के उपाध्यक्ष अविनाश गुप्ता ने कहा कि सोमवार को कार्यालय खुलने पर ही विस्तृत जानकारी दी जा सकती है।

Post a Comment

0 Comments