हिमाचलः अफगानिस्तान में फंसे बेटे ने रात में मां को किया फोन- भारतीय दूतावास में पहुंचे तालिबानी

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचलः अफगानिस्तान में फंसे बेटे ने रात में मां को किया फोन- भारतीय दूतावास में पहुंचे तालिबानी


शिमला/मंडी।
अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्‍जा हिमाचल प्रदेश में भी चिंता का कारण बना है। मंडी जिला के सरकाघाट निवासी दो व्यक्ति फंस गए हैं। इससे स्वजन परेशान हैं। स्वजन ने सीएम जयराम ठाकुर से दोनों व्यक्तियों को सकुशल स्वदेश वापस लाने की गुहार लगाई है। वहीं, इस कड़ी में आ रही ताजा अपडेट के अनुसार मंडी के रहने वाले नवीन ठाकुर की रात करीब एक बजे अपनी मां से बात हुई है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः कुल एक्टिव मामलों में 433 की उम्र है 18 से कम, एक ही जिले में 147 बच्चे पॉजिटिव

बातचीत के दौरान नवीन ने बताया कि तालिबान के लड़ाके भारतीय दूतावास में आए हुए थे। तालिबानी लड़ाकों ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि उन्हें 5 से 10 दिन के अंदर सुरक्षित उनके देश भेज दिया जाएगा उन्हें डरने की कोई जरूरत नहीं है। इसके साथ ही नवीन ने बताया कि यहां परिजनों का फोन सुनने पर मनाही है। अफगानिस्तान में फसे हुए लोग उनसे खुद संपर्क कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार एक्शन में: बदल दिए 26 IPS और 3 HPS, इन जिलों को मिले नए SP

वहीं, इस मामले पर नवीन की मां पदमा देवी का कहना है कि काबुल एयरपोर्ट के हालात देखकर उनकी चिंता बढ़ी है। उन्होंने कहा कि भले ही तालिबान ने सुरक्षा का भरोसा दिया है मगर इतिहास को देखते हुए भरोसा नहीं किया जा सकता है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक नवीन के साथ देहरादून के कुछ लोग भी हैं जो वहां फंसे हए हैं। वहीं, नवीन ने परिवार को भरोसा दिलाया है कि फिलहाल वे सुरक्षित हैं।

जानें क्या बोले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर-

प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पीड़ित परिवार को मदद का आश्‍वासन दिया है। सीएम जयराम ने बताया कि उन्हें सरकाघाट से एक फोन आया था, जिसमें स्वजनों ने कहा कि उनका बेटा नवीन ठाकुर अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में काम करने गया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल के 'आमिर खान' को महंगा पड़ा पाक प्रेम: FB पर लगाईं पाकिस्तानी झंडे संग DP, केस दर्ज

वहीं, अब अफगानिस्तान के हालातों को देखते हुए परिजनों ने नवीन ठाकुर को वापस लाने के लिए सरकार से आग्रह किया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इस संबंध में विदेश मंत्रालय से संपर्क किया जाएगा। प्रदेश सरकार नवीन को वापस लाने के लिए हर संबंध प्रयास करेगी।

Post a Comment

0 Comments