जयराम सरकार ने अनिल खाची को मुख्य सचिव से हटाकर राज्य चुनाव आयुक्त बनाया, सदन में हंगामा

Ticker

6/recent/ticker-posts

जयराम सरकार ने अनिल खाची को मुख्य सचिव से हटाकर राज्य चुनाव आयुक्त बनाया, सदन में हंगामा


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में होने वाले उपचुनाव से पहले सूबे की जयराम सरकार ने एक बड़ा गेम कर दिया है। दरअसल, सरकार द्वारा मुख्य सचिव अनिल खाची को उनके पद से हटाकर राज्य चुनाव आयुक्त के पद पर नियुक्ति दे दी ही। इस संबंध में आधिकारिक आदेश भी जारी किए जा चुके हैं। अनिल खाची की जगह अब अतिरिक्त मुख्य सचिव राम सुभाग सिंह लेंगे।

मुकेश ने घेरा तो सीएम जयराम ने दिया तगड़ा जवाब 

वहीं, इस सब के बीच विधानसभा सत्र के चौथे दिन सदन में मुख्य सचिव को पद से हटाने को लेकर खूब हंगामा हुआ। बतौर रिपोर्ट्स, सदन में 11 से 12 बजे तक जहां विपक्ष के शांत होने पर प्रश्नकाल में गतिरोध टूटा, वहीं ठीक 12 बजे प्रश्नकाल खत्म होने के बाद नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने मामला उठाया कि अखबारों में आया है कि मुख्य सचिव को बदला जा रहा है। बीते दिन परमार जयंती पर हिमाचली होने की बात हो रही थी। 


यह भी पढ़ें: हिमाचल: 5 साल की शिवान्या को सांप ने काटा, सावन के महीने में छिन गई लाडली

अग्निहोत्री ने कहा कि हिमाचल का एक व्यक्ति मुख्य सचिव बना। इतने बड़े ओहदे पर पहुंचा। ऐसा क्या है कि अब मुख्य सचिव को बदला जा रहा है। पहले वीसी फारका थे, वे हिमाचली थे रास नहीं आए। फिर विनीत चौधरी और बीके अग्रवाल रहे। अग्रवाल भी बदले गए। अग्निहोत्री ने कहा कि ऐसा क्या है कि अब छठा मुख्य सचिव बदला जा रहा है। यह चर्चा जोरों पर है कि सरकार मुख्य सचिव को बदलने जा रही है। इसका विपक्ष ने सदन में जोरदार विरोध किया और हंगामा हुआ। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: सुबह-सवेरे खाई में समाई कार- मौके पर चली गई होमगार्ड की जान

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बोले कि आप चीफ सेक्रेटरी लगाते थे तो पूछते थे। ऐसे मामलों पर सदन में चर्चा नहीं होनी चाहिए। स्पीकर विपिन सिंह परमार ने कहा कि यह सरकार के अधिकार क्षेत्र का मामला है। वह इसे मंजूर नहीं करेंगे। उन्होंने सदन की अगली कार्यवाही करने को कहा। स्पीकर विपिन सिंह परमार ने कहा कि ये बातें रिकॉर्ड नहीं होंगी। इस बीच विपक्ष नारेबाजी करते हुए वाकआउट कर गया।

Post a Comment

0 Comments