हिमाचल में पुलिसवाले ने ही कर ली ठगी: शाहिद अख्तर को लगा दिया 2 लाख का चूना

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल में पुलिसवाले ने ही कर ली ठगी: शाहिद अख्तर को लगा दिया 2 लाख का चूना

 

बिलासपुर। हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले की घुमारवीं पुलिस ने धोखाधड़ी करने के आरोप में दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस मामले में एक आरोपी हिमाचल पुलिस में कार्यरत है। इस मामले की शिकायत शाहिद अख्तर निवासी बस स्टैंड घुमारवीं ने पुलिस थाना घुमारवीं में दर्ज करवाई है। पुलिस को दी शिकायत में कहा गया है कि आरोपित व्यक्ति उसकी जान पहचान का है तथा पुलिस विभाग में कार्यरत है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में पहाड़ से क्यों निकल रहा था दूध जैसा पदार्थ: पता चल गई वजह- आप भी जानें

मामले का आरोपी उनकी दुकान पर आया और अपने आप को एक कंपनी का एजेंट बताया। उसने कहा कि इस कंपनी में यदि आप लोग दो लाख रुपए निवेश करते हैं, तो आपको 13 माह के उपरांत 4 लाख रुपए मिलेंगे। शिकायतकर्ता का कहना है कि उसके पिता ने आरोपी को दो लाख रुपए निवेश करने के लिए दे दिए। 12 अप्रैल 2021 को वह व्यक्ति दोबारा उससे मिला तथा शिकायतकर्ता को कहने लगा कि आप भी इस कंपनी में निवेश करो। शिकायतकर्ता आरोपी के झांसे में आ गया।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: स्कूटी सवार मामा-भांजे को रौंदकर भागा ट्रक, दोनों की गई जान- पकड़ा गया ड्राइवर

आरोपी ने उसे एक व्यक्ति का बैंक खाता दिया और कहा कि इस खाते में यह धनराशि जमा करवा दो। कुछ समय के उपरांत शिकायतकर्ता तथा उसके पिता ने उक्त पुलिसकर्मी को कहा कि उनकी जमा की गई धनराशि का कोई भी दस्तावेज उन्हें आज तक नहीं दिया गया। इस पर आरोपी नए-नए बहाने बनाता रहा। शिकायतकर्ता का आरोप है कि कुछ समय के उपरांत आरोपित व्यक्ति कहने लगा कि वह पुलिस विभाग में कार्यरत है जो करना है कर लो। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल के दोनों लाल निकले अफगानिस्तान से बाहर: जल्द ही घर की चौखट पर रखेंगे कदम

उसके उपरांत शिकायतकर्ता को तीन और लोग मिले। उन्होंने बताया कि इस व्यक्ति के माध्यम से उन्होंने भी दो-दो लाख रुपए निवेश किया है। लेकिन उन्हें भी कंपनी की तरफ से निवेश की गई धनराशि के संदर्भ में कोई भी दस्तावेज नहीं दिया गया। डीएसपी घुमारवीं अनिल ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 420 के तहत आपराधिक मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है।

Post a Comment

0 Comments