हिमाचल में 30 तक स्कूल बंद: CM ने कहा- सामाजिक समारोह, विवाह समारोह, दावतें बढ़ा रहे कोरोना

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल में 30 तक स्कूल बंद: CM ने कहा- सामाजिक समारोह, विवाह समारोह, दावतें बढ़ा रहे कोरोना


हिमाचल प्रदेश में सभी स्कूल अब 30 अगस्त तक बंद रहेंगे। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने बीते दिनों मंत्रिमंडल की बैठक में 22 अगस्त तक स्कूलों को बंद रखने का फैसला लिया था। लेकिन शुक्रवार को जारी नए आदेशों के तहत अब स्कूल 28 अगस्त तक बंद रहेंगे। वहीं, 29 और 30 अगस्त को सरकारी अवकाश है। ऐसे में 30 अगस्त तक स्कूल बंद रहेंगे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में फिर हुआ तबादला: सात HAS अधिकारियों को इधर-उधर किया, देखें लिस्ट

इसी बीच 24 अगस्त को राज्य सरकार की कैबिनेट की बैठक होनी है। इसमें संशोधन कर स्कूलों को बंद करने की अवधि को और आगे बढ़ाए जाने की उम्मीद है लेकिन कैबिनेट की बैठक 22 के बाद होने के कारण सरकार की ओर से फैसला लिया गया है कि फिलहाल स्कूलों को 28 तारीख बंद कर दिया जाए।

यह भी पढ़ें: जहां के बंदे ने 'ऑनलाइन लड़कीबाजी' कर खराब किया था IPS मोहित चावला का नाम, वहीं बने SP

नए आदेशों के अनुसार, सभी शिक्षकों और गैर शिक्षकों को सरकारी अवकाश को छोड़कर स्कूलों में नियमित तौर पर आना अनिवार्य रहेगा। शिक्षक स्कूलों से ही विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाएंगे। पांचवीं और आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को स्कूलों में शिक्षकों से परामर्श लेने के लिए पूर्व में की गई व्यवस्था पर रोक रहेगी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल के वीर सपूत ने ढेर किया था 6 लाख का ईनामी आतंकी: मिलेगा 'पुलिस मैडल फॉर गैलेंट्री' और...

इस सब से पहले बीते कल सीएम जयराम ठाकुर ने प्रदेश में कोविड-19 मामलों में अचानक आई वृद्धि को देखते हुए राज्य के सभी उपायुक्तों को विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में कांटेक्ट ट्रेसिंग पर ध्यान केंद्रित करने का निर्देश दिये। शिमला से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उपायुक्तों और पुलिस अधीक्षकों के साथ कोविड-19 स्थिति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता में सीएम ने कहा कि राज्य में वर्तमान में कोरोना वायरस के लगभग 2700 सक्रिय मामले हैं और यह चिंता का विषय है कि बहुत ही कम समय में मामलों में वृद्धि हुई हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: राशन डिपो में सरसों तेल के बाद अब रिफाइंड ऑइल की कीमत भी होगी कम!

उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों से अधिकांश मामले सामने आए हैं, जबकि प्रमुख पर्यटन स्थलों सहित शहरी क्षेत्रों में बहुत कम मामले सामने आए हैं, जो दर्शाता है कि पर्यटकों के आगमन का राज्य के विभिन्न हिस्सों में कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। उन्होंने कह कि इस महामारी के फैलने के प्रमुख कारण सामाजिक समारोह, विवाह समारोह, दावतें आदि हैं।

Post a Comment

0 Comments