विक्रमादित्‍य पहली बार पिता के बिना पहुंचेंगे विधानसभा: वीरभद्र सिंह के योगदान को याद करेगा सदन

Ticker

6/recent/ticker-posts

विक्रमादित्‍य पहली बार पिता के बिना पहुंचेंगे विधानसभा: वीरभद्र सिंह के योगदान को याद करेगा सदन


शिमला।
आधुनिक हिमाचल के निर्माता कहलाने वाले वीरभद्र सिंह राजनीति से ऊपर नजर आएंगे। विधानसभा के मानसून सत्र में सियासत पीछे छूट जाएगी और इंसान और इंसानियत पर सब बखान करेंगे। प्रदेश की राजनीति में वीरभद्र सिंह का कद इतना ऊंचा रहा है कि आज दोपहर दो बजे सदन में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर उनके योगदान को सराहेंगे। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: काम को निकली थी बेटी- घर पर नहीं लौटी, परिवार पहुंचा थाने

स्वर्गीय वीरभद्र सिंह के पुत्र विक्रमादित्य सिंह 13वीं विधानसभा में कांग्रेस टिकट पर विधायक बनकर आए हैं। पिछले तीन साल से अधिक समय से पिता को सहारा देकर विक्रमादित्य सिंह सीट पर बिठाते थे। पहला मौका रहेगा, जब विक्रमादित्य अकेले सदन में पहुंचेंगे। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल पुलिस ने अब्दुल को दिलाया न्याय: अपनों ने ही जिंदगी छीन कर हादसा जैसा बना दिया था

वीरभद्र सिंह का जुलाई महीने में देहांत हो गया था, जबकि भाजपा के दिग्गज नेता नरेंद्र बरागटा का जून में निधन हो गया था। स्वर्गीय वीरभद्र सिंह अर्की विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक थे तो स्वर्गीय नरेंद्र बरागटा जुब्बल-कोटखाई से भाजपा विधायक थे। वर्तमान में तेरहवीं विधानसभा के विधायक होने के नाते भी सम्मान स्वरूप शोक प्रस्ताव के बाद विधानसभा की कार्यवाही पहले दिन स्थगित होगी। लेकिन हिमाचल प्रदेश के छह बार मुख्यमंत्री रहे वीरभद्र सिंह सदन में सियासत से ऊपर रहेंगे। 

यह भी पढ़ें: BJP चीफ जेपी नड्डा के गढ़ में बगावत: चुनाव में टाल ठोंकने की है तैयारी, पढ़ें रिपोर्ट

सत्तापक्ष की ओर से भी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के अतिरिक्त सरकार के मंत्रियों में संसदीय कार्यमंत्री सुरेश भारद्वाज सहित अन्य नेता भी उन्हें याद करेंगे। विपक्ष में बैठी कांग्रेस तो वीरभद्र सिंह को आधुनिक हिमाचल का निर्माता बताएगी। 25 साल के मुख्यमंत्री काल में विकास की गाथा सुनाई जाएगी। 

यह भी पढ़ें: अगस्त का महिना: 15 दिन बंद रहेंगे बैंक, जानिए किस-किस दिन है अवकाश? ये रही लिस्ट

पत्रकारिता से राजनीति में आए मुकेश अग्निहोत्री को वर्तमान मुकाम में पहुंचाने में वीरभद्र सिंह का हाथ रहा है। नेता प्रतिपक्ष होने के नाते मुकेश अग्निहोत्री वीरभद्र सिंह के राजनीतिक सफर पर अपना भाषण केंद्रित करेंगे। वर्तमान विधानसभा में आशा कुमारी, रामलाल ठाकुर सहित कई बड़े नेता मौजूद हैं जो अपने शब्दों से माहौल को नई ऊंचाइयां देंगे।

Post a Comment

0 Comments