विक्रमादित्य सिंह को देनी पड़ गई सफाई: बोले- मेरे बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया जा रहा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

विक्रमादित्य सिंह को देनी पड़ गई सफाई: बोले- मेरे बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया जा रहा


शिमला:
हिमाचल प्रदेश में सवर्ण आयोग के गठन करने का समर्थन करने की बात शिमला ग्रामीण से कांग्रेस के विधायक विक्रमादित्य सिंह को सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जा रहा है। कई सारे दलित संगठनों ने उनके बयान का विरोध दर्ज कराते हुए उन्हें दलित विरोधी बताया है। वहीं, हालत को बिगड़ता देख विक्रमादित्य सिंह को खुद अपनी बात रखने के लिए आगे आना पड़ा है और उन्होंने एक वीडियो जारी कर अपनी तरफ से इस मसले पर सफाई दी है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: मोहम्मद साहिल के नाम पर थी गाड़ी- लिखा था न्यायाधीश, सब निकला नकली- पुलिस ने पकड़ा

इस वीडियो में विक्रमादित्य सिंह ने किसी जाति वर्ग का विरोध न करने की बात कही है। विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि वे किसी भी जाति और समुदाय के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन कुछ लोग उनकी बातों को तोड़ मरोड़ कर लोगों के सामने रख रहे हैं। उन्होंने कहा कि सवर्ण आयोग की मांग को लेकर उन्होंने विधानसभा में सवर्ण आयोग की मांग की थी, ताकि सामान्य जाति के लोग भी अपनी बातों को रख सकें, लेकिन वे किसी भी जाति के खिलाफ नहीं हैं।

विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि उन्होंने केवल आयोग बनाने की मांग की थी पर किसी भी जाति या क्षेत्र के हक को खत्म करने की बात नहीं की थी। जिस तरह से कुछ लोग उनकी बातों को लोगों के सामने गलत तरीके से रख रहे हैं। उनकी वे कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि जो भी लोग उनकी बातों को गलत तरीके से लोगों के सामने रख रहे हैं वे उनका खंडन करते हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश एक था और एक ही रहेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ