IGMC पर बड़ा आरोप: दुखियारी मां ने कहा- गलत इंजेक्शन लगाकर ले ली मेरे 7 माह के बच्चे की जान

Ticker

6/recent/ticker-posts

IGMC पर बड़ा आरोप: दुखियारी मां ने कहा- गलत इंजेक्शन लगाकर ले ली मेरे 7 माह के बच्चे की जान


शिमला।
हिमचल प्रदेश की राजधानी शिमला स्थित सूबे के सबसे बड़े अस्पताल पर एक बड़ा आरोप लगा है। दरअसल, यहां पर इलाजरत एक 7 माह के मासूम बच्चे की मौत हो गई। 

वहीं, अब बच्चे की मां द्वारा IGMC प्रबंधन और चिकित्सकों पर बड़ा आरोप लगाया गया है कि उसके बच्चे को गलत इंजेक्शन दिया गया जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं, बच्चे की मां द्वारा यह आरोप लगाने के बाद अस्प्ताल में जमकर हंगामा भी हुआ। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: गुटखा खाती थी पत्नी- पति ने पीटा तो पुलिस उसे ही पकड़कर हवालात में डाल दिया

मिली जानकारी के अनुसार रोहड़ू के देविधार गांव के रहने वाले इस बच्चे को इलाज के लिए IGMC लाया गया था। बच्चे को खांसी की शिकायत थी, ऐसे में उसे इलाज के लिए चिल्ड्रेन वार्ड में भर्ती कर दिया गया था। 

बताया गया कि यहां पर इलाज के दौरान बच्चे को जैसे इंजेक्शन लगाया उंसके बाद बच्चे के शरीर मे लाल निशान पड़ने लगे और कुछ देर बाद बच्चे की जान चली गई।

14 साल के बच्चे वाला इंजेक्शन मेरे बच्चे को लगा दिया 

बच्चे की मां का नाम परीक्षा रावत बताया जा रहा है, जिन्होंने इस मसले पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान इस बात का आरोप लगाया कि वो अपने 7 महीने के बच्चे को खांसी के ईलाज के लिए रोहड़ू से यहां लाई थी। 

उसे चिकित्सकों ने दाखिल कर लिया और इंजेक्शन दिया। महिला ने आगे कहा कि सोमवार सुबह बच्चे को गलत इंजेक्शन लगा दिया। क्योंकि जिस बेड 38 नंबर पर उनका बच्चा था उसी बेड पर 14 साल का बच्चा भी एडमिट था। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः दो दिन पहले निकला था 44 वर्षीय शख्स घर नहीं लौटा- दिखे तो इस नंबर पर करें संपर्क

उन्होंने आगे कहा कि उसे 14 साल वाले बच्चे का इंजेक्शन लगा दिया। उसके बाद उनके बच्चे के शरीर में लाल निशान पड़ने लगे। उसके बाद बच्चे की मौत हो गयी। मृतक बच्चे की मां ने न्याय की मांग की है। वहीं, खबर लिखे जाने तक IGMC प्रशासन की तरफ से इस मसले पर कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। 

Post a Comment

0 Comments