तीन जवानों की तीन कहानी: 22 से 25 साल की उम्र में बुझ गए चिराग, बहन ने खोया इकलौता भाई

Ticker

6/recent/ticker-posts

तीन जवानों की तीन कहानी: 22 से 25 साल की उम्र में बुझ गए चिराग, बहन ने खोया इकलौता भाई


हमीरपुरः
हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले में देर रात पेश आए हादसे में तीन जवान पुलिस कर्मियों की मौत हो जाने से क्षेत्र में मातम पसर गया है। तीन में से दो भोरंज उपमंडल के रहने वाले थे। इन जवानों की मौत की खबर पाकर हर कोई स्‍तब्‍ध है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: 5 वर्षीय मासूम पर भरभरा कर गिर पड़ी ईंटें, बुझ गया घर का चिराग

वहीं, उपमंडल के दो जवान बेटों की मौत के कारण भोरंज क्षेत्र में भी शोक की लहर व्यापत हो गई है। जबकि इस हादसे में जान गंवाने वाला तीसरा पुलिस जवान बड़सर उपमंडल की ग्राम पंचायत उसनाड़कलां का रहने वाला था। वहां भी जवान बेटे की मौत की खबर पाकर इलाके में मातम पसर गया है।

दो भाइयों की एक साथ मिली थी पुलिस की नौकरी 

भोरंज उपमंडल की वाहन्वीं पंचायत के गांव झंडवीं ब्राह्मणा के रहने वाले 23 वर्षीय विशाल पुत्र विक्रम चंद का चयन साल 2018 में पुलिस विभाग में हुआ था। विशाल के साथ उनके भाई अक्षय कुमार भी पुलिस में भर्ती हुए थे। विभाग द्वारा विशाल की ड्यूटी जहां गगरेट थाने  में लगाई गई थी। वहीं, उनके बड़े भाई अक्षय कुमार शिमला में तैनात हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: बच्चा पाल न सको तो मारो मत, यहां छोड़ देना- कोई नहीं पूछेगा तुम कौन हो..

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बाहन्वीं से पढ़ाई करने के बाद विशाल पुलिस में भर्ती हुए। विशाल के घर में उनकी मां पिंकी देवी व दादी ब्यासा देवी उन्हें प्यार से शालू कहकर पुकारती थीं। 

जबकि विशाल के पिता विक्रम चंद वर्षों से दिल्ली में नौकरी करते हैं। वहीं, अब लाडले बेटे की मौते की खबर पाकर मां व दादी ने चीख पुकार मचा रखी है और पूरे क्षेत्र से लोग सूचना पाकर उनके घर शोक मनाने पहुंच रहे हैं। 

मां ने बेटा तो बहन ने खोया इकलौता भाई 

इसी तरह भोरंज के पिदड़ता गांव निवासी बहन ने अपना इकलौता भाई खो दिया है। 25 वर्षीय मनोज कुमार पुत्र सुरेश की मौत होने से गांव में शोक की लहर फैल गई है। मृतक मनोज कुमार की मां सुरेशा देवी ने अपने बेटे तो बहन रीना देवी ने अपने इकलौता भाई रिसू को खो दिया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः पंखे से लटका हुआ मिला PWD का 50 वर्षीय ठेकेदार- जांच शुरू

मृतक जवान के पिता सुरेश कुमार का पहले ही देहांत हो चुका है। वहीं, मनोज कुमार के दादा रिटायर्ड कैप्टन पृथ्वी चंद को भी अपने पोते से बहुत ही लगाव था, और उन्हीं के पदचिन्हों पर चलकर मनोज ने पुलिस में भर्ती के लिए प्रेरणा पाई थी। बताया गया कि मृतक जवान मनोज की बहन रीना कुमारी की शादी हाल ही में ऊना जिला में हुई हैं।

23 वर्षीय शुभम के निधन ने भी नम की सबकी आंखें 

वहीं, बड़सर उपमंडल की ग्राम पंचायत उसनाड़कलां के गांव नारकड़ खेड़ू के पुलिस जवान 23 वर्षीय शुभम पुत्र सुरेश कुमार की मौत से पूरा परिवार सदमे में है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में एक और युवक फंदे से झूला: नशा करने की थी बुरी आदत, दुपट्टे से लटका

पिता सुरेश कुमार गारली में बिजली उपकरणों की दुकान करते हैं मां विपिन कुमारी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हैं और बड़े भाई भी पुलिस विभाग में कार्यरत हैं। इस पुलिस जवान के निधन होने से बड़सर क्षेत्र में भारी शोक की लहर देखने को मिली है।

Post a Comment

0 Comments