हिमाचल: किसान के बेटों ने किया कमाल- प्रदीप व सुरेश बने हिस्ट्री लेक्चरर, बहुत शुभकामनाएं

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: किसान के बेटों ने किया कमाल- प्रदीप व सुरेश बने हिस्ट्री लेक्चरर, बहुत शुभकामनाएं


सिरमौरः
जिंदगी में कुछ भी कर गुजरने के लिए कड़ी मेहनत और लगन होना बहुत जरूरी है। इस बात को सही साबित किया है सिरमौर जिले के किसान परिवार से संबंध रखने वाले प्रदीप और सुरेश नामक दो युवकों ने। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में पति-पत्नी कर रहे थे चरस का धंधा: पुलिस ने नशे की खेप संग दोनों को किया अरेस्ट

जो अपनी मेहनत और लगन से लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा को पास कर हिस्ट्री लेक्चरर के पद के लिए चयनित हुए हैं। क्षेत्र के दो बेटों द्वारा हासिल की गई इस सफलता पर इलाके में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। वहीं, प्रदीप व सुरेश ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता व गुरूजनों को दिया है।

जानें कौन हैं प्रदीप कुमार-

प्रदीप कुमार पुत्र मस्तराम गांव दोची ज्ञानकोट के रहने वाले हैं। प्रदीप ने अपनी 12 वीं कक्षा की पढ़ाई राजकीय वारिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धर्मपुर व बीए की पढ़ाई राजगढ़ महाविद्यालय से की। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: डॉक्टर्स ने कैंसर पीड़िता को दे दी नई जिंदगी, यहां पहली बार बड़ी आंत का सफल ऑपरेशन

बीएड करने के बाद प्रदीप ने हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी से डबल एमए इतिहास व हिंदी विषय में पास की। जिसके बाद 2017 में इतिहास विषय में स्टेट एलिजिबिलिटी टेस्ट यानी सेट पास करने के बाद 2019 में हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा पास कर विपिन का चयन टीजीटी कला के पद पर हुआ। वहीं, वर्तमान में वे राजकीय उच्च  विद्यालय थैना-बसोत्री में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

जानें कौन हैं सुरेश कुमार-

सुरेश कुमार पुत्र झेंटाराम गांव डिब्बर के रहने वाले हैं। बता दें कि सुरेश कुमार ने अपनी 12वीं की पढ़ाई राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला देवटी मझगांव व बीए की पढ़ाई राजगढ़ महाविद्यालय से पूर्ण की।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: सेब के अच्छे दाम के लिए अड़ गईं दो बहनें, खरीददार को झुकना पड़ गया- पढ़ें रिपोर्ट

वहीं, बीएड करने के बाद सुरेश ने अपनी एमए की पढ़ाई शिमला स्थित हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी से पूर्ण की। इसके बाद सुरेश ने प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करना शुरू कर दिया। वहीं, हाल ही में सुरेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा को पास कर इतिहास विषय के लेक्चरर के लिए चयिनित हुए हैं।

Post a Comment

0 Comments