हिमाचल सरकार 5 साल बाद सलझाने जा रही पौने दो लाख कर्मचारियों के मसले: बुलाई गई JCC बैठक

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल सरकार 5 साल बाद सलझाने जा रही पौने दो लाख कर्मचारियों के मसले: बुलाई गई JCC बैठक


शिमला।
हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों से जुडी एक राहत भरी खबर सामने आई है। दरअसल, सूबे में 5 साल बाद प्रदेश के कर्मचारियों के मसले सुलझाने के लिए 25 सितंबर को सुबह 11 बजे संयुक्त सलाहकार समिति (जेसीसी) की बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में सूबे के पौने दो लाख कर्मचारियों के मसलों पर चर्चा की जाएगी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: खेल खेल में चल गई बन्दूक से गोली- 7 वर्षीय मासूम के छाती में घुसी, पसरा मातम

बता दें कि इससे पहले कि पूर्व वीरभद्र सिंह सरकार ने भी पांच साल की अवधि में वर्ष 2015 में सिर्फ एक ही जेसीसी आयोजित की थी। वहीं, अब वर्तमान जयराम सरकार भी सत्ता संभालने के बाद पहली बार जेसीसी आयोजित करेगी। गौरतलब है कि साल में कम से कम एक जेसीसी बैठक आयोजित करना अनिवार्य है। 

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार ने इन सरकारी कर्मियों को दिया तोहफा: अब 5 नहीं 3 साल होगी पदोन्नति अवधि

सरकार ने बैठक में सभी विभागों के सचिव और विभागाध्यक्षों को मौजूद रहने के लिए कहा है। हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के अश्वनी गुट के पदाधिकारियों को सरकार ने पहले ही अधिकृत कर रखा है। महासंघ के नेताओं ने पहले ही कर्मचारियों की लंबित मांगों को लेकर सरकार को एजेंडा सौंपा है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: चलती गाड़ी में ड्राइवर का BP हुआ हाई, बेकाबू हो दूसरी से टकराई- भागे लोग

महासंघ अध्यक्ष अश्वनी ठाकुर ने कहा कि जेसीसी की बैठक 25 सितंबर को तय हो गई है। सरकार से संशोधित वेतनमान देने, अनुबंध कार्यकाल घटाकर दो साल करने, अनुबंध कर्मचारियों की वरिष्ठता अनुबंध काल से गिनने की मांग प्रमुखता से कर रहे हैं। इसके अलावा एनपीए के कर्मचारियों के लिए केंद्र की अधिसूचना लागू करने, बकाया 5 फीसदी डीए का भुगतान करने सहित कई अन्य मांगें उठाई गई हैं। 

Post a Comment

0 Comments