हिमाचल में खुलेंगे रोजगार के द्वार: 5000 करोड़ का एमओयू साइन करेंगे CM जयराम

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में खुलेंगे रोजगार के द्वार: 5000 करोड़ का एमओयू साइन करेंगे CM जयराम

शिमला: हिमाचल प्रदेश में रोजगार के बड़े स्तर पर विकल्प खुलने जा रहे हैं। राष्ट्रपति के दौरे के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह, मुख्य सचिव राम सुभग सिंह, एसीएस आरडी धीमान उद्योग विभाग के निदेशक राकेश प्रजापति के अलावा वरिष्ठ अधिकारियों का दिल्ली जाने का कार्यक्रम है।

5,000 करोड़ का एमओयू साइन होगा:

मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार नई दिल्ली में औद्योगिक घरानों के साथ 5000 करोड़ रुपये के एमओयू साइन करने जा रही है। सरकारी स्तर पर इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल शर्मसार: एक जिला- दो लडकियां, रेप के बाद दोनों गर्भवती, एक मूक बधिर भी है

यह एमओयू मेडिकल डिवाइस, पर्यटन, एजुकेशन और फार्मा जैसी बड़ी कंपनियों के निवेशकों के साथ होगा। एथेनॉल और फूड प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करने के लिए भी एमओयू साइन होना है।

इन जिलों में लगेगी उद्योग:

इन उद्योगों के स्थापित होने से प्रदेश के हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। उद्योग विभाग के पास 3500 एकड़ जमीन है, जिनमें उद्योगों को जमीनी स्तर पर उतारा जाना है।

यह जमीन कांगड़ा के कंदरोड़ी, ऊना, सिरमौर, सोलन के नालागढ़ और हमीरपुर में है। उद्योग विभाग एथेनॉल प्लांट स्थापित करने पर भी जोर दे रही है।

सांसदों को भी दिया जाएगा न्योता: 

एथेनॉल मक्की और गन्ना से तैयार किया जाता है। इसे पेट्रोल-डीजल में मिलाया जाता है। यह पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाता है।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः भतीजी संग छेड़छाड़ कर आपत्तिजनक तरीके से छूता था फूफा, मिली यह सजा

उद्योग विभाग का कहना है कि इसे मिनी इन्वेस्टर्स मीट भी कहा जा सकता है। औद्योगिक घरानों के अलावा प्रदेश के सांसदों को भी इस कार्यक्रम में आने का न्योता दिया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ