हिमाचलः गर्भवती माहिला को हाई रिस्क मरीज बता रेफर किया, सड़क किनारे एंबुलेंस में हुआ जन्म

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचलः गर्भवती माहिला को हाई रिस्क मरीज बता रेफर किया, सड़क किनारे एंबुलेंस में हुआ जन्म


सिरमौरः
हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले स्थित शिलाई उपमंडल से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जहां एक बार फिर क्षेत्र में 108 एंबुलेंस के ईएमटी व पायलट एक महिला का सफल प्रसव करवाने में सफल हुए हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में एंबुलेंस ड्राइवर की घटिया हरकत: बीमार बेटे ने की उल्टी तो बेबस मां से साफ़ करवाई गाड़ी

बताया जा रहा है कि अस्पताल में मौजूद चिकित्सकों ने महिला की हालत गंभीर होने के चलते उसे पांवटा साहिब रेफर किया था। इस बीच अस्पताल से लगभग 10 किमी दूरी पर ही महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। जिस पर ईएमटी व पायलट ने महिला की डिलीवरी एंबुलेंस में ही करवाने का निर्णय लिया। 

अस्पताल प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान उठे 

इस तरह एक बार फिर एंबुलेंस में एक नन्हीं जिंदगी का जन्म हुआ। वहीं, एक बार फिर एंबुलेंस में बच्चा पैदा होने से अस्पताल प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान उठ खड़े हुए हैं। यदि महिला की हालत इतनी ही गंभीर होती तो ईएमटी व पायलट ने महिला की डिलीवरी कैसे करवा दिया।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: कोरोना से दिवंगत हो चुके शिक्षक का हो रहा प्रोमोशन, अन्य कर्मी भुगत रहे खामियाजा

प्राप्त जानकारी के मुताबिक घुडुवी गांव की एक महिला को डिलीवरी के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इस बीच महिला की डिलीवरी को हाई रिस्क बताते हुए उसे पावंटा साहिब रेफर कर दिया। इस बीच महिला ने रास्ते में ही बच्चे को जन्म दे दिया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: रॉन्ग नंबर से दोस्ती फिर बैंककर्मी ने देवभूमि में कई जगह पर लूटी इज्जत, हुई प्रेग्नेंट

वहीं, इस मामले पर क्षेत्र के लोगों का कहना है कि यह ऐसा पहला मामला नहीं है, बल्कि इससे पहले भी कई बार 108 कर्मियों द्वारा रास्ते में महिलाओं की डिलीवरी करवाई जा चुकी है। जिन्हे चिकित्सकों द्वारा यह बोल कर रैफर किया जाता है कि इसमें हाई रिस्क है।

Post a Comment

0 Comments