हिमाचल: शव लेने पहुंची सरकारी गाड़ी नहीं हो पाई स्टार्ट; न वर्षों से टैक्स चुकाया, न था कोई कागजात

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: शव लेने पहुंची सरकारी गाड़ी नहीं हो पाई स्टार्ट; न वर्षों से टैक्स चुकाया, न था कोई कागजात

सिरमौर: हिमाचल प्रदेश के जिला सिरमौर के नाहन नगर परिषद के खटारा वाहन के कारनामे की खबर सामने आई है। मिली जानकारी के अनुसार शव लेने पहुंची सरकारी वाहन गली में खराब हो गई और घंटों जाम लगा रहा। वहीं, गाड़ी का कोई कागजात भी पुख्ता नहीं था। 

स्टार्ट नहीं हो पाई सरकारी गाड़ी:

बता दें कि नाहन के  नंबर-3 निवासी अशोक मल्होत्रा का का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। शव को श्मशान तक ले जाने के लिए नगर परिषद की गाड़ी बुलाई गई।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में सरकारी नौकरी का मौका: इस विभाग में 100 पदों पर भर्ती! जानें डीटेल

गाड़ी (HP18B-3192) में शव को रखने के बाद ड्राइवर के लाख कोशिश के बावजूद वह स्टार्ट नहीं हो पाई। संकड़ी सड़क होने की वजह से पीछे गाड़ियों का लंबा जाम भी लग गया। परिजन रेड क्रॉस की गाड़ी बुलवाकर शव के साथ श्मशान पहुंचे। शव वाहन को काफी मशक्कत के बाद बीच सड़क से हटाया गया।

शव वाहन का नहीं था कोई कागजात:

वहीं, स्थानीय लोगों ने जब नगर परिषद के शव वाहन की पड़ताल की तो गाड़ी का ब्रेक फेल था। वहीं, ऑनलाइन रिकॉर्ड खंगालने पर सामने आया कि इस वाहन का 28 अक्तूबर 2018 के बाद से इंश्योरेंस नहीं है। वाहन की फिटनेस 16 अप्रैल 2018 तक थी। टैक्स का भुगतान भी 31 मार्च 2018 तक हुआ है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में सरकारी नौकरी: भरे जा रहे TGT, JBT और LT के पदों पर भर्ती, जानें डिटेल

गौरतलब है कि शव वाहन से मृतक के पार्थिव शरीर को ले जाने के लिए शोकाकुल परिवार से 600 से 800 रुपए की राशि ली जाती है। बावजूद नगर परिषद अपने गाड़ियों की मरम्मत करवाने में असमर्थ है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ