PM मोदी बोले- मंडयाली धाम कर रहा हूं मिस, क्या आज भी वैसा ही है स्वाद, की CM जयराम की तारीफ

Ticker

6/recent/ticker-posts

PM मोदी बोले- मंडयाली धाम कर रहा हूं मिस, क्या आज भी वैसा ही है स्वाद, की CM जयराम की तारीफ


मंडीः
हिमाचल प्रदेश पूरे देश में कोविड वैक्सीनेशन की पहली डोज 100%  लोगों को लगाने वाला पहला राज्य बन गया है। जिसकी बधाई पीएम मोदी ने सब प्रदेश वासियों को दी। वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए प्रदेश के लक्षित आबादी के कोविड वैक्सीनेशन के लक्ष्य को हासिल करने पर पीएम मोदी ने राज्य के लोगों को संबोधित किया। 

मंडयाली धाम को बहुत मिस कर रहे हैं

इस दौरान उन्होंने कहा कि वह मंडयाली धाम को बहुत मिस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि क्या मंडयाली धाम का स्वाज आज भी वैसा ही है जैसा कुछ समय पहले हुआ करता था। 

वहीं, संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने मंड़ी जिला के थुनाग के दयाल सिंह, कुल्लू स्थित मलाणा की निरमा देवी व लाहुल स्पीति के नवांग उपासक से टीकाकरण की सफलता को लेकर बातचीत करते हुए कहा कि जो जज्बा पहली डोज को लेकर दिखाया गया है वह दूसरी डोज में भी बरकरार रहना चाहिए। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः 3 दिन अंधड़ के साथ भारी बारिश और बिजली गिरने की चेतावनी, 10 जिलों में येलो अलर्ट

इस बीच पीएम मोदी ने थुनाग के दयाल सिंह से पूछा कि टीकाकरण में ग्रामीण क्षेत्रों में किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा? पीएम मोदी ने बताया कि उनका मंडी में काफी आना जाना रहा है और वे अक्सर यहां पर आकर मंडियाली धान का स्वादा चखते थे। उन्होंने कहा कि सराज हलके के रहने वाले जयराम ठाकुर प्रदेश को नेतृत्व दे रहे हैं। आपने टीकाकरण को बढ़ावा देकर सराहनीय काम किया है। 

मलाणा में टीकाकरण को लेकर भी की चर्चा 

इसे देख लगता है कि सराजियों ने पूरा जिम्मा अपने कंधे पर उठा लिया है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने निरमा देवी से इस बारे में जानकारी हासिक की कि कुल्लू के मलाणा में टीकाकरण को लेकर उन्हें किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा? जिस पर निरमा ने बताया कि टीकाकरण के लिए पहले जमदग्नि की अनुमति लेनी पड़ी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः पढ़ने आई लड़की से कहा सरकारी नौकरी लगवा दूंगा, बनाए संबंध- जन्मा बच्चा

छह घंटे पैदल रोपवे से वैक्सीन मलाणा गांव पहुंचाई। वहीं, पीएम नरेंद्र मोदी ने लाहुल स्पीति के नवांग उपासक से पूछा अटल टनल रोहतांग शुरू होने के बाद लाहुल के लोोगं के जीवन में क्या बदलाब आया है? जिस पर नवांग उपासक ने जानकारी देते हुए बताया कि टनल शुरू होने के बाद यहां के लोगों की जिंदगी पूरी तरह से बदल गई है।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः खाई में गिरी सेब से लदी पिकअप, 28 वर्षीय चालक की गई जान, दो पहुंचे अस्पताल

टनल निर्माण से पहले लोग कुल्लू जाने के लिए दो दिन पहले से सोचना शुरू कर देते थे। इस बीच उन्हें रोहतांग दर्रे में फंसने का डर रहता था। वहीं, अब आम जनमानस दो घंटे में कुल्लू पहुंच रहे हैं। इतना ही नहीं टनल बनने से पर्यटन बढ़ा है। वहीं, किसान व बागवानों के उत्पाद आसानी से मार्केट तक पहुंच रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments